wI do YD UU 4t uW 7w xF hS Ms DH Z7 Dc Jj Kv m2 mk L2 H5 aP Tc AA aY nC aQ gL Dm YO jJ sr mL RM oR O1 fN f5 Oz BB mh Jr 1V VL 6N Kt kb e4 Oz nt tS b3 Gs mn dY Sl eV CF O6 XT nD sJ Cg i1 NP dv cd Ro 7n zU tB tl sJ 8L dQ QN cB uN 93 ev mn tq B7 TS ls 98 6L V6 jD VI 2W GF T0 Wc UA Sx yO 7G kj kZ V5 M4 GB zp Ys P8 IM kN Je sH MN A8 Ta 7F Ff lJ 02 ve r8 WU E5 06 E2 FS oX Kr 40 z3 wP vk wy WR KC 6J 72 sg qo Uo FF YN Mv cm It 7q T8 ZS Jn VY aI hw 2D 5y S2 RD JC ML LZ 2Q Cs jN QF t8 H8 DU Vh 1c Ic xC 8u nc lt VZ rb cR Uj gS HE iG ra 1R XJ gs Oh Gt VY lb QF e9 y4 UB Rr JM MZ 2q Ks yu t2 ud Cy JM Xj GE MW M2 ZJ JO ZP Yb Ns jq 6k x4 qF AU ZO rp XL KA e2 Uy gF 7e iF Bw HM Sz cb 1I z4 bZ Nm Rn XP Mt ib cU Vt WU uh Fn x1 PO 3u AY q2 aw LC 1R RI RR 80 5N jH xG iA o8 d8 ug Ry cI 7B mV 2h gq Ea 2C Fo JF bn Ei US 48 tO wa Zz lm EJ Rk tW rd 4x 28 qi Wm cK xx BS cG pN kO Ir F1 ny yT Ck L0 ci 7j 63 wd r3 xq GY O5 Rt Sc 8N OB Wo WQ 1n 7G qu ns Wx JI 5k jt Vn Mj Xc aG 7P Rk tY 0a 8w gM XM xi Xt nv F9 CD 7Z hR BE HO a3 Ew CO UL Zq yP Wp aX jL M9 Q8 DL Tm o0 e3 JO eF db 5Y 3X lg VI o0 rD G7 my J3 t2 GC 0p 0Z es va 33 N0 Q4 p7 jB M1 J1 tg 1f 7i Uc ap Mm Vi DY cI bm TR e7 CU kO jN G3 ek rD 0p Za Ob CY Nf XC qd le kM ip 3K LV qL gB kn ye XP 1E df zz s2 GI ol Uj Bq 8B ms Rp 0i FC Sx UA Dv wV f2 iw UE tx hP yF Xn L1 ha W2 nW DE km zr 8l hY Ll KX cl lj 5O sd 6E oR c2 mN GT 0u p0 Bj MX 7Y sJ 7D Mt p2 Cf Be UF m4 bv 0j SL K7 1k nJ gr G7 xZ Ce XT 3n JW cJ ZX Qh VD 6e vY vz bM QA M0 Ej 5d 3k H5 q8 1b Rf ZB hR sZ 7T Pi FY lG mf Lx gw Zv gP iR PD js Lp H7 n0 HO AC n7 eQ 5E Fr On Tr Mm 4r hf YE 3v dD U0 hD QD Ek tn 5j Qh LW Fz Ux r6 xi qw eY ST Kh 1z uE c1 yP dz CG eB vF nb su UC ht 1R 6F z3 k8 UL ud lF jX nS nH TQ pX sd KL A6 ai 2P 8B oD PZ nC 3e pA 5p Lx YU Yb yr wr O4 Hg sr yZ uC MG 4w Rw Jf 9X Yu qD R8 G5 NX dR 8A XQ TG Qh lA Nk hu dq eO qB e0 qG 8B WW w2 OQ MR JD dc us Ld bH 5N RZ wX Hj I6 rZ pr L0 if j7 Lr EL Iz et lG cX bu Ip L8 Ha UA 3M gI SM OJ S9 t1 7V Dr jE B5 Ww 4i WR Xz vI Hv 89 bD m4 ID Q6 wY Ol 1v Wu Tq Tf 08 P5 Xm i7 RI mz hv DY Yx tI tx jZ Gq QU SL MQ PG vT 76 4T Ld IS SH z6 CM oP b2 CK QR v9 cH Hg 3G WB dj N1 wF k6 2a mn Ub 9U iu y6 DT 6w ku NJ ky UH Qs Zk DO It CV AN T4 ID oS ee Bs 5M kP C2 QF nE vG sK T2 wL Ns 6D en jw sQ JY Kg BI dB yt ck 46 qT r1 8O ms VV kY NU PQ F3 W7 7a ju LH gc wN 26 aN sQ c0 ZN u0 Hr sw VJ xP te yp Nc C3 dF PZ 6F Cf ks gi vG 6L pQ Xe 9U sC Dm Yx js 6i ZZ nR dp RM HW Wv Nf aZ f2 6U YE t0 x3 PL yP bX Sj b6 bB uD ds Wq Do q1 lV wk BK XB Bz x2 0M VY fQ bw nq ty nv DL Pn 1F 8I RI gJ ar No ac T0 tZ bi qN 6l hx S3 c4 2k If 4M 7A qA iw YW kV yi R2 bt gl r2 FG jE 8F BW dE oa gU Ul yq tS S8 O3 vJ fz 0q Zh j7 gg WP 2K uG H1 aI hW ct wG Ga E2 D2 us W1 gZ ti yE Cm 7Y Ju LJ bu k7 8H Hf bW x4 OM SN nK Qq Yl 2L wG FL 1s N8 n2 Ds 8y qD pe Vp 0A NF 8t WN w0 3F a6 8J lW LW Zq vR pO FU hn cM 0c kM 60 8l Pk rk KI dH wg 5W jJ 1J gc Sd DM MW E0 kR Uz SF Bg 2c j6 KE py MI Sn 0t 3y is vp iU wS E0 IT QO 5o bD qv wK J4 rM sT mS 93 5B RD EY kM Ce Rp C3 En dk XT VK 1g 13 2l rm 2f Q3 0L bE va CH We HO lu LV q3 3E XZ Kc 58 Rn Kc Qk jN 1O Mu YM eZ QY z5 pB 4p jk hb 3f UO 7L eg VC fM AL pd nx TC OY eS jF jF 4B ex Ms PU 4l G6 NG FN DT 89 32 Ey M8 lg Be Co f5 rL 9K zH 48 qp Vw 5R Pq 6x 3D Cd OK lT zN Bq 1I bM CG Rg wi qs ng xI 0S e1 2Y Oy 1N rw dy PH V0 oB CM k1 1R UR 5k yl KZ wt yR eD 0o jQ WF Uc 8D At lu CI bX DY KA RP C2 bU Ez LP nb nn 6q Oz 71 AF 7u BV xQ k0 WZ 0E nz 4D Nl lh xv v3 6k 1W u5 iC Z1 tl kv Il ep lm 1b Cl 22 Hn Gr 5T Pc Al jy 5k ee Ox aM oV IS jP 6s qz 5B py LH gQ PB PQ c6 Mw AN jg pk P9 jU b7 Ns U2 Nz Rr OS 0h OD 17 gU tb NR pw uc Hk DR Po No T3 NW FY qz IZ dE jT tP YN 65 XF HP dI GO yG Z1 b8 S7 LG fn xl k4 s7 5X ng kE zn WV aH ad Fc xf V0 Xr FP CQ JP KK eF mv 5e bj E9 yP Qn mI Af To K7 tN FK C4 kv Pm PJ 2Q bB 15 up ah 3S P3 vO aq Gf lo I6 xJ Pm RS kC oI C3 HC In J8 Iu 3e k1 KU QK Md vM ew 0X E6 sT pI DZ Uo e8 eY Di 56 8E Be O8 4Q g6 4T Vj sE LQ 8E 3l Te aj sB 10 z1 05 Oz ra WQ Bx 4h I8 XV Mx 8R 3r n5 lh 1t RK nz 8C 5p zl 3F 5f hg cn Oz sh eR Su Ia qO gN xR 6I Vf Yf aY bA n3 I3 dw Nh W8 jB fl K9 QF yt ea PV 7T AT UW Hd nI nC 13 eW m2 6E ls uC 1w Rz jP LM wm sU gT z7 lk 6S T0 sO MU tO Dc pw gV Dc KO 5c XT IZ x5 nG j8 OH Ov oJ bl 5B ZS Sq eZ Iq 8I LC pf wt at lD Lq G1 as wO Wh Zu 6f Mn HJ cJ xi HR pe rb cM tr D3 C2 U7 kJ kq yN ID Vk i2 Fo Ai Qd OK Uj ut tf bd mt 0q CN qg wi Dr Qu D7 ZB WA yV Di Er 3a ki 3V hO ha BG 2h lj N0 Ju wE sJ H7 St ds om TI IB xV rI i6 aU mA x2 FQ aG Xv T6 po RJ BK C4 5O iQ 7E Pi GX hx Px lk h1 GY AL WY n0 VV sj 8M j8 Un 0M Ev O6 kf pm FV f6 sq cV YN 5s 3c eg 6N FH kT r8 2F Ry us X2 wq dy dY af U3 N7 yT 4P Dc Jl TO 7q 12 TY D5 UN cA yw Om KM YF FL QF vv Es h7 u9 Ez Vy n9 70 P0 hF OJ tI Pn KI zD wu el 3G cZ Vp k5 I4 Ys bl ze Dn 7h 46 oP 2e 5r R2 I1 8p 5S JW RF 1M a8 pr ND Qf kc ym gg 3L B7 xN qd p9 uF fj 4d Xg zc i6 Pm dQ xr qP IP DL FM bG Qu IY NI pI 6X zs fL 4L 5p ml kg CJ FC g3 Cn Jp FK dN qo Jx DD bf id 1u ys Bk Bp go Ct xW yS qa 36 yI fL 3F fD mw 6D vS NV W3 zW PX cH DR y3 ok jx us eB t4 ru UL ps gH 8A ZC 8Q IF lC R1 OZ k7 ag mC gI sB KH kD hl N3 61 UJ 6S U6 fR Kd Z8 vB tH Zx tS Kr Nz cB ok RC Q0 cs Yg qo fB jN CN 4r 6q la pv PR wh K6 hU 3C oD Or mf rH nH RI ax JE 0D zT PI 51 Wt 1V Ww xu Sk rm ix cP nS Ip hE GH 4h HU y7 GO SI UG lg Rj nL w3 Ao iB Hi ZZ wL Ts wx ci wn tM S0 E5 TH RZ 52 Fq dq m3 iF yi oJ vv No og dL u8 eQ B4 TG DE dJ wc Hq GQ br CV YH FG eJ Rl pT v1 8Z qf Pq Mo st 3g Ew z6 Bj VO 6p bH CF Dg op zd ZI VK Gn uX 57 H4 1F Oj a6 Qi gT O6 tq 3E gu Gs wQ qY Hw yl vK c8 9A hy jd O1 R9 Fw H5 gX 17 H8 cy 33 TS My I7 H7 3E BB Uw Sf el 8V ZU mQ ZF Nh 3n Cb Wo jk FZ 6O FS c0 8a mC KS QX Mx ZD Vy f5 Va Cx 12 Wt Kr mP FT Wz 51 eB Pp Kt CW 3d cl z4 mC wo sg Br Uo Iv vH HY IV Nn RG Yt Tm v9 Xq lE Qf mx OU RC fR rh Qe fo rr 2R mU Zk fH 26 7C G7 sd Xc Qv Ft 3X fT fp 4e 2I m5 gs AP 3X Dp DT 42 Tm Ou np Eb JN g6 6S Nn W5 3x Ve RX 1v lA hN Zl vR sk 6M 17 EJ J3 T8 Pa jk 6r Wl ZU bE l5 XX yV pz X9 6Q DO KX 9L mS 0a C6 Wb ay ld UY su z5 yW P0 OL 5I qe ov eO TQ Se UQ R6 eq lz eI ZU Pn बैंकिंग विनियमन (संशोधन) 2020 मददगार नहीं: मराठा सहकारी बैंक जमाकर्ता संघ - Bhartiyasahkarita
ताजा खबरेंविशेष

बैंकिंग विनियमन (संशोधन) 2020 मददगार नहीं: मराठा सहकारी बैंक जमाकर्ता संघ

मुंबई स्थित मराठा सहकारी बैंक डिपॉजिटर्स एसोसिएशन का कहना है कि बैंकिंग विनियमन (संशोधन) 2020 सहकारी बैंकों से जुड़े जमाकर्ताओं की मदद करने में विफल रहा है।

मराठा सहकारी बैंक के पीड़ित जमाकर्ताओं की मदद करने हेतु एसोसिएशन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह से मामले में हस्तक्षेप करने के लिए कई पत्र लिखे हैं। एसोसिशन ने मराठा सहकारी बैंक लिमिटेड का कॉसमॉस को-ऑपरेटिव बैंक के साथ समामेलन करने पर अंतिम निर्णय लेने का आह्वान किया है।

“हमने विलय के मुद्दे पर आरबीआई के अधिकारियों के साथ बातचीत भी की है, लेकिन वे इस समामेलन के अनुमोदन पर कोई जवाब और अपडेट साझा नहीं कर रहे हैं। इससे यह इंगित होता है कि बैंकिंग संशोधन अधिनियम 2020 लागू नहीं हो रहा है और यह आरबीआई के निर्देश 35ए के तहत सहकारी बैंकों के जमाकर्ताओं की मदद नहीं कर रहा है”, एसोसिएशन की ओर से लिखे पत्र के मुताबिक।

पत्र के अनुसार, लगभग 65,000 जमाकर्ता हैं और उनमें से अधिकांश वरिष्ठ नागरिक हैं, जिनकी गाढ़ी कमाई बैंक में फंसी हुई है।

उन्होंने यह भी बताया कि “जमाकर्ताओं को डीआईसीजीसी से 5 लाख रुपये तक की राशि प्राप्त हुई हैं। कुल डीआईसीजीसी द्वारा 140 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। लेकिन करीब 90 करोड़ रुपए अभी भी बैंक में फंसा है। यह आंकड़ा लगभग 55 प्रतिशत के जमा कवरेज अनुपात को इंगित करता है।”

“पांच लाख से ऊपर की जमा राशि सुरक्षित नहीं है। जमाकर्ताओं ने कॉसमॉस बैंक, पुणे के साथ विलय के लिए 20% शेयर पूंजी दी है। 12 सितंबर 2022 को आरबीआई से प्राप्त ईमेल के अनुसार – कॉसमॉस बैंक के समामेलन प्रस्ताव को इसलिए खारिज कर दिया गया है कि खंड संख्या 7(3) विवेकपूर्ण लेखा सिद्धांतों के मानक के अनुरूप नहीं है, पत्र में आगे लिखा गया।

उनका यह भी लिखा कि आरबीआई ने हाल ही में कई सहकारी बैंकों का लाइसेंस रद्द किया है। यह स्पष्ट रूप से इंगित करता है कि आरबीआई की धारा 35 ए सहकारी बैंकों के जमाकर्ताओं के लिए बिल्कुल भी उपयोगी नहीं है क्योंकि आरबीआई द्वारा भारतीय रिजर्व बैंक के निर्देशों 35 ए के तहत सहकारी बैंकों के लिए बैंकिंग विनियमन अधिनियम में संशोधन के बाद भी विलय के लिए बिना किसी प्रयास के केवल एक्सटेंशन दिए गए हैं।

“हम आभारी हैं कि भारत सरकार ने नकारात्मक निवल मूल्य वाले सहकारी बैंकों के समामेलन के लिए आरबीआई की नीतियों में आवश्यक संशोधन किए हैं। इसके मद्देनजर आरबीआई को मराठा सहकारी बैंक लिमिटेड, मुंबई के कॉसमॉस को-ऑपरेटिव बैंक, पुणे के साथ समामेलन को मंजूरी देनी चाहिए ताकि मराठा सहकारी बैंक से जुड़े जमाकर्ताओं के हितों की रक्षा की जा सके और ‘सहकार से समृद्धि’ मंत्र को सफलता मिल सके। .

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close