बुलडाना अर्बन: गडकरी ने रोबोटिक लॉकर लॉन्च किया

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को मुंबई में क्रेडिट सहकारी क्षेत्र की जानी-मानी कंपनी बुलडाना अर्बन की नई तकनीक रोबोटिक लॉकर का उद्घाटन किया। यह लॉकर बैंकिंग क्षेत्र में गेम चेंजर के रूप में साबित हो सकता है।

केंद्रीय मंत्री को नई तकनीक लॉन्च करने के लिए शुक्रिया अदा करते हुए, बुलडाना अर्बन के एमडी डॉ सुकेश जम्मवार ने कहा कि नई तकनीक गोदरेज कंपनी की है और हमने इसे पायलट परियोजना के आधार पर लॉन्च किया है। एक रोबोट 244 लॉकर्स को संभालता है, उन्होंने कहा।

रोबोटिक लॉकर की विशेषताएं बताते हुए, जम्मवार ने कहा कि पहले ग्राहक कमरे में प्रवेश करेगा जहां रोबोट ग्राहक के पास लॉकर लेकर आएगा और प्रक्रिया पूरी होने के बाद रोबोट वापस उसी स्थान पर लॉकर को रख देगा। इस ऑपरेशन के दौरान मानवीय हस्तक्षेप की जरूरत नहीं है, उन्होंने रेखांकित किया।

बुलडाना अर्बन ने अपनी दादर शाखा में इस नई तकनीक का शुभारंभ किया और यदि अनुभव फलदायी साबित होता है तो इसे अन्य शाखाओं में भी दोहराया जाएगा, एमडी ने कहा।

बाद में, बुलडाना अर्बन के उच्च अधिकारियों और मंत्री ने बुलडाना अर्बन के 700 से अधिक सदस्यों को संबोधित किया। जबकि सुकेश और अन्य लोगों ने नई तकनीक के बारे में लोगों को बताया, गडकरी ने देश में आर्थिक गतिविधियों में और अधिक नवाचारों को अपनाने के बारे में बात की।

गडकरी ने हर डिफॉल्टर उद्यमी के खिलाफ कार्रवाई करने को अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा नहीं बताया। गडकरी ने कहा कि इरादा ठीक होना चाहिए। कार्रवाई हर ऋण डिफॉल्टर और एजेंसी के खिलाफ नहीं की जानी चाहिए, पहले डिफॉल्टर के इरादे को देखना चाहिए क्योंकि उसे कोई वास्तविक समस्याएं भी हो सकती है।

“अगर हम अच्छे इरादे वाले लोगों का बचाव नहीं करते हैं तो हम लोगों को देश की तरक्की में भागीदार नहीं बना सकते हैं। अगर उद्यमशीलता खत्म हो जाएगी तो पूंजीगत निवेश कहां से आएगा? इससे अर्थव्यवस्था को हानि होगी", मीडिया ने गडकरी का हवाला देते हुए कहा।

इससे पहले, इस साल गुजरात राज्य सहकारी बैंक ने नारनपुरा, अहमदाबाद में ऑटोमेटिड सेफ्टी डिपोजिट बॉक्स लॉन्च किया था, जो कि बुलडाना अर्बन के रोबोटिक लॉकर के आस-पास की ही तकनीक लगती है।

 

   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Facebook

Twitter