ताजा खबरें

मैसूर मर्चंट्स को-ऑप बैंक की नई बोर्ड में 3 नए चेहरे

कर्नाटक स्थित मैसूर मर्चेंट कोऑपरेटिव बैंक का चुनाव हाल ही में शिवरामपेट के धर्मपरायणी अलम्मा चौल्ट्री में संपन्न हुआ, जिसमें निवर्तमान चेयरमैन बी कोदंडाराम को बैंक के बोर्ड में निदेशक के रूप में एक बार फिर से चुना गया।

हालांकि अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव 13 फरवरी 2020 को होगा। चुनाव का विवरण देते हुए, बैंक के सीईओ श्रीधर बी कुलकर्णी ने कहा, “13 सीटों के लिए 18 उम्मीदवार मैदान में थे। एस.सी./एस.टी. आरक्षित वर्ग के दो उम्मीदवारों को बोर्ड में निदेशक के रूप में निर्विरोध चुना गया है।

चुनाव 11 सीटों के लिए हुए। 2 सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित हैं, 2 ओबीसी के लिए और 7 सामान्य श्रेणी से हैं। बोर्ड में केवल तीन नये निदेशक आये हैं और बाकी जो इस बार की बोर्ड में चुने गए हैं, वे पुराने लोग हैं, उन्होंने फोन पर इस संवाददाता से कहा।

उन्होंने आगे कहा, सात हजार से अधिक मतदाता हैं लेकिन चुनाव में लगभग 3000 सदस्यों ने ही वोट डाला।

पूर्व अध्यक्ष और महिला वर्ग से निवर्तमान निदेशक एम एन सुमना इस बार चुनाव हार गयीं।

के एस हरीशकुमार को चुनाव प्रक्रिया की देखरेख के लिए रिटर्निंग ऑफिसर के रूप में नियुक्त किया गया था। उम्मीदवारों ने 26 जनवरी 2020 को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया।

निर्वाचित निदेशक एन आनंद, आर पी कृष्णमूर्ति, बी कोदंडाराम, बी आर नंदीश, ए प्रभुप्रसाद, के प्रेमकुमार, एन सुधा, सी वी सोमशेखर, एन कन्नन, एम एन महेश और सी एस गंगामबिक हैं।

मैसूर मर्चेंट्स कोऑपरेटिव बैंक का 370 करोड़ रुपये का डिपॉजिट बेस और 270 करोड़ रुपये का लोन और एडवांस है। पिछले वित्त वर्ष में बैंक ने 5.62 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया। कर्नाटक में बैंक की तीन शाखाएँ हैं।

बैंक का नेट एनपीए 0 प्रतिशत है और सकल एनपीए केवल 1.8 प्रतिशत है जो इंगित करता है कि बैंक द्वारा ऋण की वसूली अच्छी है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close