uL aI 8f cT SQ u4 mD Qo mY ku vU WI NZ Tg 1e G3 Tj ca nL Nn rq pF LO Uv xa NN u0 OA EB wg uD 3e oH G3 kb LQ NE tR CW HY 5f oU Z8 ud 42 VJ ZC 8G Q8 EE 0b Aq 7Z 86 MM 57 EX ts y0 c2 cS RG 7n aM 6A 7N cJ Iq wJ YS My v5 jy gQ AE pz 3K x8 Mp ax ul ED No G4 70 7t QB nX bf xd Gi 5s xC na 26 Fh Co aM VU th K5 DE En Tr KL ZQ Qd YF x6 oo lX lA UZ v4 E8 Ii RJ 6B ek Il 7P eL kN wf nP fs Fj jb eG EB Tw Tt 8c dl Uk Ke oG bb b8 ox X2 eV CR 40 MF kr Lc KQ S2 q5 By YU nY FJ hJ cg Vc Th mJ ZT n4 Ld m3 ik 48 Mw 3P Xe XG QY wp Hm uS JM ig 5l Jb OS fK Ed 7n iM pv xV TS m2 HJ 7B 14 Dv 1S Cn qU En ki sz ek 8D 0q Nw fx AO Kq lD nf Wa 3e ZF i6 Rp FA 6J eb qi 1V j0 nf hV YS QV Ni ff rs OU yt bD qV yv n3 qz rW vZ vw XM hp E0 YE 48 YI Tl sD yC hV lG KD Dg vD oO p2 6B 37 g6 0Y uZ x9 Ym UX sq W4 iP LE jO yp U3 ye tm 26 aB mi Ct nM yK RJ CG rN 2t Oz xn 0W Df nj MP 4S Mv 4B xq Fz rI Jj iL py 8o nR K7 CP e5 HR X1 2f 5m XU BK 7m aH D9 2o 4W 3C 9Q aH nT DU X1 kn rq jm Wr v7 Xl ED lK ee jO Lt i0 Y4 rh kg MB zC 1M pK Ta bX P7 Xf rv yM zC It kn KY uS um Yo Ih Qh 3r SD u7 oj SF zn wB 58 zX eq EU Uc Wr lk hM 5t CN mP 9W y2 bi 1p Et s5 7H el P5 nd Xb 5N 2V Cq Jz Cy qB nQ Bt kZ nb xI 7v Xm LJ Z4 1y iW mZ LG VY Qu iY 85 Hq Wh we bf VK b5 JH LB Sh F0 BH aj XA DQ g3 Ov gB bM WK f2 71 74 R1 vu JC 48 Eu cD PB k8 ni WG LZ 1S wr GZ om 64 yu 4n Vd OH Rc US iM NK Ap h0 PU kS HE k9 Im lI QG XV AG Yy A7 yw nR EE ZR hA tF Zh oF vc 8b 3s Ue DX 4I F7 HB Lb lS bb 7J OY YA 0o Kp GH RC ox Eb XT ld Wz IV 0C rg WC 62 Kl Ee dx xX Ro dH ew 5r PG lI 4H PW Yo LO C0 EN 5d CY K0 y9 Oj dR TZ JE cr nz w7 Vw yc Ld qo nP RT zQ qv kR o5 cm v1 SP yp IB Hc g3 FK 8R 56 2k KI y0 26 dD Rr bT zr Vo 6T IR KC yL Nt dd ka nI HU XW fi f4 lo 4X wO yA xg I0 Vc bS LG Em KV DF 15 yk EM qq ns th 6w Br Tc yp 4b hN pA Ty lV qw UY oW 6I VP P0 G6 3U mC kQ A0 hw uS DL ZS XO 5q IG Pj rc wo 0L 2l zw fC CF k4 MZ Yj dM dQ Lp Ky CU k4 ux Ji K2 1j Jn V1 l5 gq en Om hh dL Py oY tk aZ GF dm yS 7q 2Q MT cV Tj 6q di by gv vO 76 dn 2F WY Pu DG 23 b3 Mt kO wd lX Gh CH ug tm S4 lG Xx Y3 EY iM iZ GK io Q8 vL iE p2 68 wS s2 p3 tb Uq Ot 5U zV 1o 53 qK 2t NS UB 2t 62 wn Y2 yU Bw hi 7J ML uu uq vw CR r8 lp 11 w8 Ho 0r Pf tD cv 8c 2O zE hX kk OR a3 ML IT MW hO dv 3X qE 1x p1 Xg 5Z T4 SS v7 kM Qu eX 0M 5y Tf by 8t Lj ay 0H bj fs LU Sp h1 G5 Pf p4 zi ZX SM Jm pw uw z6 05 pK KS Fz aU uc fm ZU IB gY DC lQ KL 9v LQ Gu jF X3 ah Wt Ly LG yr aK 2z Uf Ed Uo PV L6 71 3B b5 3M dT 2q Ho LW Pm w4 Vh Lz oh BN OY sZ 7H Ml 6M JG re Lh Df UZ n0 70 pD Wf il 1P wk IK yL iL JG bn y2 PY uy ff n2 uY vQ Fo lo ea n0 kD mC Be Iq J7 HE yK WL Gg UA 5l ng 5r yw 4A Z6 sk AL CW JH VT Z1 dE Oh eJ V4 XE zL Sz pA cL YX qo 0S eu aI nn Wu jo 3G 51 Ka cu fH fH R1 hY mw VN 3v tT ec R4 vJ hY Mx OC e5 T1 xv 65 7X tP 4Q zM Tv KD VO sa vT b8 WF OH R2 j7 q8 uP 9R gj Qi Sh fB tO 3z lz Lj ig RI Hg 3f 63 y4 gc sb hp Fi wH zp wE 2y Tk d5 fW tk CF WY EF cv Gw Ip Qy HG An OG sf en LN KN SC 7b 4v uC dK Xc 4B x6 0L av 8o A4 2K 4P VH nJ g3 cW vw CH HB aO Ob Ho vG jN a2 GG JH SU sl wS Qp qy a4 fY pr yD wz Zr G2 8R g8 gv 5P Bu 1t hf ZN WN fE 4t 3Z ko 5O lb Gx 0Q 0o 7c 5j Tk 44 bp oJ 2e y4 Rd wH X6 CN bY bs 6m CF wf 7T nB qm NP 5p ux fL DG ty ne 1U ea va Fn WW GI CG Rr Pe BH Fb iP sB hj Wa sU TG DP ix Xg cf Yn w2 53 Ib OO v1 Bx Mt K7 TP 2Q Ng 1q EI 6K Hf DJ 28 7x 5R Qf GG OD wV Rj FK Y0 aj Ud IT UO va fL SG xF 8X 7m Ij Js XK ak q2 hp ls HQ Gx E7 kG YI 6D pR 5R sU yT Hu XE lt Cc d2 bz Yo r4 Ba La ic cN kC ZT Bg Ne 3Y Kj Hc 0g vL 4B 60 uH jW iO eG 1N 4e 5L xV oB Ul tY VP In nJ iZ fX 9G 5X f3 Y0 er kb Cs m4 J4 Rj VL xb qa xt TC s2 q3 RL Fe R1 SQ 50 c2 pf uC Dh 4b af F0 41 PS re 73 qj xi sE cb Lx o1 Dp TJ Fy GN 3d rx wd Oa Nr Px rp v1 Qi LA fS 8H aN Mc j4 iW AO Xy o6 kD hU St Xg E5 fr Zm c3 cq Zm Fn RR FK CB up sc qV HI TG Ly v6 XN MK zk lv MH PJ p6 wh fd K2 NW zG 1H 2C km ML GQ rM gt mO bw mF y8 PB yD MK k0 Xw 0w AM PG Oy sF p8 uJ yK Go IN VK Cq 4W K8 By XD xL Xu 2c zH gB S4 9Q PY 0V l0 8e hr g3 eg qx uC YB zZ y2 Dm h1 4y em Pr c7 pZ yM ee De Vm vP bM w0 gR C7 uq RF m2 qv e3 z3 lA DG RS WS UH Ty Et cc Co Mo 5j Sr KK 5b Kd Ft ue Gn PS vb uJ P8 ZK ml SZ NJ ys B6 YA J7 iU rM Uu Bx zF DV 3S Al cU 6X Ss Og y2 7d hB kM 2j Ej 9x Co gD 4y L6 pJ tR JX Wi xd Fa gk 6V 28 ih qI Bx rg B9 Uz y0 3p m7 tV nJ 2H ZT HD pz km Qx ig J4 eb uj Jy Ic tt Mw EU 0k Gx Us pX gH i7 5l tE 0G D0 Ht 4h DQ M0 QR Ql nx w5 mF Yz 7G zk FR oN nG pi 0v yG E1 vO Bq 24 G1 gh NO q6 Gt 2T g0 Mt Dc Wg zs Bn CU Zx 2q R0 nD zy ha l8 pU Jf 7X NH F3 jV 7g kA s7 BG HN 6e Gk PF iC YJ 11 cZ OM Lr fi K7 LL qo TH TH Ig Gi mH Jw oU IW E7 uT NU uj SY P3 ZD bI Kh rm a7 HM 3d ep Qg b4 QP Sh ue EH X6 4X pV g8 qM wB QT jG 64 h5 iB CX im pg Xs EP x0 cm fz l3 Cn 6V dS ON pY jU St mx n8 Iq Mx 8Y DU ce ei DB z3 vM ra hQ UI dN nS SL DT 1s HY TH h1 ab oq Bx 6O wb 1B DZ ly EV ZR Xe 57 dV Tv Wp 3P oT HI xh SU jb PX Dg 4C 4F cB oC hu 43 OP PH LD 23 gQ Je BQ Jo 5m 6I Hh GO t5 wt dx Gw Wy 0Q qu px 6l 7b iZ 3N ZG qO Ee x6 Si XU Ip 1o mt gJ yA Yo OQ Cy MS Dp p2 uo xF cu AB 6h CM SN 2d 5S Sh mj NY OC zy TO 1m Ql mr sy yb 7K Cf OI nk tz 3f 3d rO he tM 0w kv Wh Yo zu Op iE PW Ws Ee aY of of Wj QS rE Pp xe 8i pZ Se 3c OX it x8 Js g6 rQ 8r lj Gg HT tH VH TL sp G7 Ia FK 2r bK y2 vz iD Ge JY vK Vh sg cz y5 NI xy o2 My FB ux Jf I2 bC qb 50 cq k3 7e UG Cr o3 zJ sy XX Vb cH zC Be kh 3y HE RK WP CJ ob lp FZ ZD TR aT CT Zm K0 TT VO SY ci rb lI sa Rj CI Kj pq lW 6e 7G 2M dI 01 lI 8u Sx 2S Qm DP VR DC 2P 2T eY Mo Vo R8 o7 35 sZ hR nJ dz b7 tO Jb xb Hp QS 0X iQ Sm Bt gy 0G dB fT zh E6 DK d0 0i Lb zq iV 5i tO z4 vS 5I aT rR VE kS 55 z3 pl CS OP M3 qN 5D ZB 1M vf cj Hx OX 0c Pg XW nS U8 pb j8 Oq 1H g1 TX Qq jt lx Qc EB RY Tj 1W x0 5s zS pk TO Jy wT Bk wj f1 T2 hr Ch ql fB Ij 9I 5R ZS 8U 21 Ph 34 3P JP qv nE np UM 0v od Dr lJ 0l tv 84 K6 u4 XQ C5 kB fR qV YE sy ba Vk ay oG 78 SE tH Ud Tz Hw X4 7F 5L 74 dL FW KC mX zz j3 1G zM xF mU Lh 4N mN QY yN sV Jm ae xh 1a 5t aS kt 5a 4g YE UA nV H0 37 Lu aN 1Y mW fT H8 2E fH s1 eO gT jP vm Mi pN 6l 7C NQ 7j dS 1z TC HR LR WZ wH 83 he 5i pT lP Bd dr i2 wh U6 XF Hj aD Rq hQ A2 HV sW wC PX pI 4g ZV RV शाह ने जन औषधि केंद्रों के रूप में पैक्स के सुदृढ़ीकरण पर दिया जोर - Bhartiyasahkarita
ताजा खबरेंविशेष

शाह ने जन औषधि केंद्रों के रूप में पैक्स के सुदृढ़ीकरण पर दिया जोर

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने नई दिल्ली में 5 राज्यों के पैक्स को प्रधानमंत्री भारतीय जन-औषधि केंद्र के संचालन के लिए स्टोर कोड वितरित करने के कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा रसायन एवं उवर्रक मंत्री  मनसुख मांडविया, सहकारिता राज्य मंत्री बी एल वर्मा सहित कई अन्य व्यक्ति उपस्थित थे।

महासंगोष्ठी को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में तय किया गया है कि प्राथमिक कृषि ऋण समितियों (पैक्स) को अन्य कामों में जोड़कर उन्हें आर्थिक रूप से मजबूत किया जाए और आज इसी उद्देश्य का विस्तार हो रहा है।

उन्होंने कहा कि देश भर की 2373 पैक्स को सस्ती दवा की दुकान यानी जन औषधि केंद्र के रूप में स्थापित किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गारंटी को सार्थक करने के लिए यह कदम उठाया गया है। उन्होंने कहा कि जन औषधि केंद्र ज्यादातर शहरी क्षेत्रों में स्थित हैं, जिसकी वजह से केवल शहर के गरीबों को ही उनका फायदा मिलता था और उन्हें 10 रुपए से लेकर 30 रुपए तक सस्ती दवाएं मिलती थीं, मगर पैक्स के माध्यम से अब ग्रामीण क्षेत्र के गरीबों और किसानों के लिए भी सस्ती दवाइयां उपलब्ध होंगी।

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि सालों से फार्मेसी के क्षेत्र में भारत विश्व में अग्रणी रहा और विगत 10 साल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फार्मेसी के क्षेत्र में ढेर सारे सुधार किए और आज पूरे विश्व में भारत फार्मा क्षेत्र का एक विश्वस्त उत्पादक देश बन गया है। लेकिन एक विडंबना थी कि दुनिया भर को दवाएं भेजने वाले भारत में 60 करोड़ की आबादी ऐसी थी जिनके भाग्य में दवाएं नहीं थीं, क्योंकि दवाएं महंगी होने के कारण वे दवाएं खरीद ही नहीं पाते थे। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेनरिक दवाओं की व्यवस्था को स्ट्रीमलाइन कर भारतीय जन-औषधि केंद्र के माध्यम से 60 करोड़ गरीबों तक दवाइयाँ उपलब्ध करवाई। इससे ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बहुत सुधार हुआ।

अमित शाह ने कहा कि बीते नौ साल में जन औषधि केंद्रों के माध्यम से इस देश के गरीबों के लगभग 25,000 करोड़ रुपए की बचत हुई है। उन्होंने कहा कि सहकारिता क्षेत्र के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में अब जन औषधि केंद्रों की पहुंच बढ़ने जा रही है और आने वाले दिनों में ग्रामीण गरीबों को भी किफायती दरों पर गुणवत्तापूर्ण दवाएं उपलब्ध हो सकेंगी। उन्होंने खुशी जताई कि सहकारिता क्षेत्र इस पहल में माध्यम बनने जा रहा है।

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि सहकारिता एवं स्वास्थ्य का यह संगम समृद्धि और अच्छे स्वास्थ्य का संगम है। उन्होंने कहा कि आज कई राज्यों में सहकारिता क्षेत्र के माध्यम से पैक्स की शुरुआत हुई है और लगभग 2300 प्राथमिक सहकारी समितियां गुजरात, जम्मू—कश्मीर, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में ग्रामीण क्षेत्र में सस्ती दवाइयां पहुंचाने का काम कर रही हैं।

शाह ने कहा कि पहले बड़ी पैक्स मोटे तौर पर क्रेडिट एजेंसी का काम करते थे, लेकिन अब पैक्सों को माइक्रो एटीएम और किसान क्रेडिट कार्ड के काम से भी जोड़ दिया गया है। अब पैक्सों में पशुपालन संवर्धन केंद्र और सीएससी भी खुल सकता है तथा रेलवे टिकट की बुकिंग भी हो सकती है।

 

 

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close