अन्य खबरें

अवस्थी ने प्रभु के नेतृत्व में रखा “सुपर को-ऑप प्लेटफार्म” बनाने का विचार

इफको के प्रबंध निदेशक डॉ यूएस अवस्थी ने सरकार के समक्ष सहकारी क्षेत्र की आवाज उठाने के लिए “सुपर को-ऑपरेटिव प्लेटफॉर्म” बनाने का आह्वान किया है। डॉ अवस्थी ने पिछले सप्ताह सहकार भारती द्वारा आयोजित एक वेबिनार में समापन भाषण देते हुए यह बात कही।

इस प्लेटफॉर्म के अध्यक्ष सुरेश प्रभु हों और चन्द्रपाल सिंह यादवसतीश मराठेदिलीप संघानीज्योतिंद्र मेहता और उदय जोशी इसके सदस्य हों”इफको के प्रबंध निदेशक ने सुझाव दिया।

“सहकारी संगठनों को हर जगह नजरअंदाज किया जाता है। अवस्थी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित पैकेज में कोऑप्स को कोई राहत नहीं दी गयी है। उन्होंने कहा कि सरकार ने एनबीएफसी को धनराशि दी हैलेकिन प्रशंसनीय कार्य कर रही ऋण सहकारी समितियों के लिए धन का कोई प्रावधान नहीं किया गया।

अवस्थी ने कहा कि जब हम एमएसएमई के बारे में बात करते हैं तो उसमें हथकरघा और अन्य सहित देश में मौजूद कई छोटी सहकारी समितियां भी शामिल हैंलेकिन उन्हें कोई राहत नहीं प्रदान की गई है। सरकार ने छोटे बैंकों और भुगतान बैंकों के बारे में बात कीलेकिन सहकारी बैंकों के लिए एक भी शब्द नहीं कहा गया है। क्या ऐसा है कि उन्हें मौजूदा स्थिति में राहत की जरूरत नहीं है?’

उन्होंने आगे कहा कि सहकारी समितियों ने इस संकट की स्थिति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इफको सहित कई सहकारी संस्थाएँ जमीनी स्तर पर सक्रिय हैं और जरूरतमंदों की सर्वोत्तम तरीके से मदद कर रही हैं।

इफको ने 5.50 लाख से अधिक किसानों को मास्कसैनिटाइज़रसाबुनआवश्यक वस्तु किट और अन्य प्रदान किए हैं। दूरदराज के इलाकों में भी 1.5 मिलियन से अधिक मास्क वितरित किए गए हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close