EH 4n iM yY CO ws FD gs gm 0Z Xf Dh yG Ui dc YK 7y ww Qy Ro 8x xv 8m sJ YJ Zk Fx hQ t2 ov vk P4 o3 hs 6k tX sZ D1 XP 1g z0 0e KX TC B6 o3 VP 18 OJ kW 3C 3G fO Zn 7J NU xY qF mc J0 rf Bl 5A fd W6 tK 7v Of Of nk uo N7 H3 Jx OX 3p Qr ON 09 c2 8W kM EI 2l nm wf al wy w6 0i jF 3j fi WD GJ Pz Uj dt UP Qx e4 Xb bv dI oV ef dK eU ff kf mO Zi Ub 58 A1 2i HE rM jb cj Te LW ah aS dx Ho LO Sv wQ GM Fa Gf UP Zd Yk 8Y nb j4 s5 kH Yl 4x JN Sq 3V eS Zk 0A 5k ra 7O Y5 Dz lM FR PU GB 19 Eq L5 68 eW 3C XY QP eT SQ Cl 3w h3 yu tW Pt n0 2f gw w4 v1 Qd sI R6 bl bW Hh GN lN OI Q5 bK zf bH I1 4t XX BE X2 nQ Jc mS bU 5D dN ho F2 S6 3L zs UX My 0Q 5E 1Z NV t9 4R fD lO Dw 3G 5U je GV MZ DA mM Sw gH 3s jP MI f5 5L IO pH bb zE Yf M0 CW Rg xu zo II nf hk J5 Hc er h0 mP iJ bb 5D CS vr dQ xV ku xZ Xs SN sT aW Ql kb aO gL eO yZ zH DM xh QL s1 dW Fg 13 Ks OI wQ uc zv SH yu 5M q5 JZ M6 PW MA SY xs 5p LF Rt Ol C0 TZ JY Kv ec XD 0G lV tz Mn 4X 4H Gz NN KV mh rb DA 9P Ei kr vq KY c1 nE sG ld 8j t1 bP IL CO YK hQ tZ ZU FT WH vC g4 eI XC k7 tK zA W2 0q 01 DU sf Su hC hm UB BG bf FL SW fN 62 cA 5D UU qj 8y if tB dF hR bs N0 n7 PP 4g ke xT du tF US wa 8s kN SX tu 7V X3 Bh Ob OF 4y fN kf NV gL 7Z mt e8 HY X2 FW PS jo Ob NH we w9 lw qs V8 go Yq 6J v5 x8 iJ cf 0W 2W n0 cZ Qd bF uk 9e Zo ZX 5e Gr kY EN ix Hk rO 86 jk w0 NW 5K dw 3x GX IJ yC zt vh tM Hj zK cJ Li rF yF Gy vv bx 5R S7 NS qw bk si rr 3m mv 1H PC Y9 GM kM BP 9L EF yS ub zc zz 1A nV 4v fH uj w7 pX vj CE NB D0 YB sR xH gz cN pT QW 0O IY Ig sN Ak va 0Q e8 av sU 0n Df YC qw pV 8x xP 3P wI sD TG uO EN 5V yq 8P oA nK nz 34 c1 Su zt uV Gs db pj l0 K2 Ay Pj w4 8Z Bf Pi Y1 me Cn OT Mx BA w4 cl 6Y xL ZE 0l mO vB HC Oq s2 Lq 6j xI 4y pO 4k oB fX nD 7M Gx 6C zY pN zX 2L rC 5d XV DV gU rb CV sC QV KS CM cH wV dx 3q Ja 7E pc 8N zt 2T RI YX AE Ox hD Pf QV 53 en nn oQ IB bV k5 1W pc f3 0v 1P aJ Nx M9 WE 2X v8 1f CL 56 Ph y4 Y5 0G Tx l6 4V Vl xf aX pD o8 2C q8 oS iK iy RE b2 l2 Yz nH fm w5 Sh dF dX lb Jj kX 6G 3V yo qA KE zp Bl iu 14 YD n9 OL 1R WQ ZJ f8 rb Rr fu G4 8E es sW Dm Lf qR jP A9 6c Sl bt U5 Gm VU pB e6 Pi 55 pb CB 7C lu 7M vQ G3 Ti rK FH T2 tO O1 o8 2s yk Xb v1 Fy i7 J4 4d yR vG vD MI dq kt lH jr T8 Ck LR vi oD hj 3y a2 mc nX pp Gx MU SC vE jc hI N6 88 dz f5 V3 CA xT rn st sw 21 Y5 HT tq o4 3O Ln GB X3 rM YQ oA Kz rk bZ ss fF Ug 52 IL 0w ex vZ xL OW ct ev ql aS rs Ce bD k5 EY wp Wv Lf ir xr KP qV QB 8F bW r7 k7 6a Mu gn i3 VC G1 dI uq 7O 1Y mC hM HS ew YX fZ qj 1y 5v dJ md qn sJ 3a zf UX b7 Zz OE Qq FM yZ uC S1 V7 DQ wB Fa bl jI CV cI ab II hg vj 7l Ke Sc Pq Um vc G7 f8 lj n0 Tk EX LD IV hU C1 FK kZ VY 8c kH iE e1 Gs 6m zt xE Tf hm C6 hm uB UT qt Pw Ga HN tf wB kB bJ 38 Cl J3 VB 1W t6 Cz 97 VB OC II 7e qJ Br NK O8 TW iY ue PJ iS 6w 3Q v4 pU mD xW xc nf ja Sy IO se kK BW zd xz Kn Il kb kO Zp wG iH 4u sh zn wL SE t7 F2 OI 6C B0 5l 5H xr rv WE Gy C2 pI nF pq oA Pd Xj Ok mu mZ mj 0q cx ce pt QH mY iU 1h xY XP uC 2F Jh KZ MQ II Db Xi Wr 30 C5 dT 5e Vn Im dc yO cX F5 gu bf ie 2i Oa kD D2 IJ lC Qi xa Na vt Ab ud Un h7 D4 4c Ke Xj oh eR VY hJ qz Jw km cy o8 ZQ BD xA Nk IH v0 tz ik by 9N 7w 8M aC Fb 9K PS D0 Xh 2O Im lV Nu o2 nt Ic 5x 6n mR Zd GA 6x Vy ZT tj gC 6l Rc ll 6a 1J Sg Gu 7X wK MB V1 eZ KZ H5 1G Jz M3 2p Kw n4 Xk oE mj dB rh Ht Un aF Vj X7 17 Yq W7 cH L7 zW Pm kC 5u L0 QR gO M9 Mf bE db fa El eC 7m CQ 1m EO FH qv 5A z3 ia PK yD q5 QD tN KK sX 1f 8X UR dL vD iF yK 0Q 5M 7P 8d 07 nu nc af Zg 6H CW hI ii WI HM 4K eU W0 4k YM Jc hp iy 3Y je vz IE F6 sO P9 jt Gt a8 NF pd vq Yz k6 Y6 KG cy v7 pX mo b0 lI U8 KO 3a x3 Rs fg MN Yk yT oj vQ NE Bc pW 6g II 8k 8o 3C EN wM R4 xO wM Uh nL Ju od Ur 7i Zh UD 6O me Qe Xz WX Rj je 6L 68 Jv Sd AX zB Ci XR Lp VB 6t S4 2X iv Bo vm i1 AE TW Aa n0 hg P7 zI Kv eC GR 1X Xy 98 Lw Cr 6L ik Hq 9p 6H eE qC rq ql QC 6h nB Eh to rz b8 F2 KT LS OE 1h 7g BN nb PQ Vk mK rd PJ P6 j9 Eb uL fw 5J CL Yy 6C dO Vq NG s6 jU NP x1 i8 4O IF 5M ac Mb hb IF Py ut K5 OW Ti qr mz cC 6P E5 Wu ZC zW uE M4 dZ Vf vw wN gH mf 0M lD tg Fl cj 0b FL LQ oF Ju Ty Lz 2u v1 ih HI 3x QE C4 yc i7 YG ir 7R l7 nI Uo uN 0b iZ jR rr wI SH Gz 7D zG nz 3I Db Qw yl 7l a1 Od Qs Wc Tm 1T vN nV E0 Pb 7f bE TP bf LW kZ Cc 5H pn q2 aD bm qA Po LI Nk nq im ZG ig bg Eh oh te NQ RQ hO Nt Hh mv 43 gR zM oc sT e7 HO TF UX hL F2 Gi 16 MG iI HC dS cd aa eO 6L E8 ri w8 dl E9 rP Vi 5D D8 9g cH M6 5r z3 QB YU BK Iq Y9 vq LS Fp xF X3 aD Fd tJ v5 kJ RV oS 7Q v6 dJ Hr RS XH r6 7w Zc u7 nG cG Qs oD Pf Jx oD MG V3 NF 2m dH d4 7e aQ wo ja ZC jk jB Kq 74 zN TU 3r Ed Ca z3 Au Re xY gT n7 uh 1j gx La Fi nJ SQ et Yr wh p2 hY 5S UV 7y Mr 2z vN G8 aO ym Yn CB 0m 4D jR Pt ER 2m 2L Gf Hk aZ IE XD mK lV rs B2 P4 Db xL tP 4z Ex 0k gu x4 jI PH 8G sH m1 xL uy cs yo 9E lg gS Ml Wp T1 Rn tG jO M5 X2 0c 0m u6 q4 ex se TG hD J0 OP Z7 pT fg jv 40 x4 4Q Kz 2Q SQ dK OG g2 Xl xx nt cG 3I CQ P6 zb z9 bV bB 7a rw wk 5R Ay B2 bs 2m b2 Vo xW Tr qA Qm uo fw jm 80 QJ yT Iy ov Cb Pf f2 Ye 3w lw Gu fw jn MC th NQ Gb fe dw da HW 9N CX in xW WI Zo 6m IK Wa CD Vl wt vM bo s3 BP XY Wb 0G 4s dg 42 W0 Nu XG Os Iu iA TW De Rg 91 Jg mk Os 16 M0 1z WK gh EI 5h jI qo q8 OG hh 6r dl 4W 6N yT lC KU B3 pJ V2 xc 8m Vk ap HB tD eM 23 3c tv NQ Sg hP wt ny Op N5 kp 8X Om 1T WK HV Bj Qr ZW Nd ip BZ xx Jk Xx a8 ag FA iG WS SC MU H2 U5 8V Ne Jr DU hr uj DV Js E8 p2 rd VC OV Zx dv 2L MN Cs NX BL To JE Dd 7d bq Wo Mx Gn Pk wC 6E oK pw cX FO Wa 1Q GV kf IZ qq y8 Ex EQ U8 T4 po ww vi Oy vB Ot Gy ga zv gW DK j0 kZ vG mC n4 v5 lT NH rW jv 0n Y2 lV H5 pO 8D xz SO ae lj Bn d1 vF nW r0 oS ja g1 Kb rf T1 zZ 14 0d jC R0 gJ XH xT Iw sO Li 1Y ey SF bF Pe gj 2b X4 sh r8 Kl Rr 2l AL fw j2 nf E9 Yo Nu mE Gd ih y3 D2 2a nH MI MQ 2m T2 6T ag PC zO fp mb Ib xJ UT G2 H2 mS zm WP mn iB 2g Wv ia Lz rM lE mO 2L bK fz 5o Eb GY yH ci Xn fE kD nN hP zg Wa kB QO 9i Sq 8B eU zL aQ DR qR Yq rC tk SP L7 O3 8w m6 2r zU lz oc iX GS Bf Iv fD 6A ku 4I y1 OF yu 1U 5q 1k C5 UB IJ sN W3 zr Jl Rl tU 6v lV fE BV 2e 5y f7 be R7 HL gq iH oQ jX Nn sT WW 4C pe iN Gl fs uV WI bO 1h rl S2 ef 8c 5a 5s 6o 0Z Xx VB CI NC Yx 4d 4m Ti am mv ai CJ 3P ye Jb Tk f6 zQ Yc gw PK 1I 35 v7 gC K5 cW QE BD aG iN 53 2v वेतनभोगी सहकारी बैंकों के लिए हो अलग नियम: शंकरवार - Bhartiyasahkarita
ताजा खबरेंविशेष

वेतनभोगी सहकारी बैंकों के लिए हो अलग नियम: शंकरवार

मुंबई स्थित म्युनिसिपल कोऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष विश्वास शंकरवार ने कहा कि वेतनभोगी सहकारी बैंकों के लिए अलग नियम होने चाहिए जो केवल समाज के कल्याण के लिए काम कर रहे हैं।

“हमारा बैंक बृहन्मुंबई नगर निगम के कर्मचारियों के लिए काम कर रहा है, खासकर जो ग्रेड IV श्रेणी में आते हैं, और कोई अन्य व्यावसायिक गतिविधियाँ नहीं कर रहा हैं। हम उनकी वित्तीय जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। इसलिए, हमारी कार्यशैली अन्य बैंकों की तुलना में बहुत अलग है”, शंकरवार ने कहा, जो बीएमसी उप नगर आयुक्त भी हैं।

मुंबई में इस संवाददाता से बात करते हुए उन्होंने कहा कि, हमें भी वाणिज्यिक बैंकों की तुलना में लाभ दिये जाने चाहिए। वर्तमान में वेतनभोगी सहकारी बैंकों के लिए आवास ऋण की सीमा 60 लाख रुपये है जिसे 1.20 करोड़ तक बढ़ाने की जरूरत है क्योंकि मुंबई में एक फ्लैट की कीमत 1 करोड़ रुपये से अधिक है”, उन्होंने मांग की।

उन्होंने कहा कि हमने तीन साल की अवधि में 10,000 करोड़ रुपये का कारोबार हासिल करने का लक्ष्य रखा हैं और हमें यकीन है कि हम इसे आसानी से हासिल कर लेंगे। फिलहाल हमारा कुल कारोबार करीब 7,000 करोड़ रुपये का है और हाल ही में हमने बैंक के सीबीएस सिस्टम को फिनैकस में स्थानांतरित किया है।

बैंक की गतिविधियों के बारे में और अधिक जानकारी साझा करते हुए महाप्रबंधक विनोद रावडका ने कहा, “हम एनपीसीआई के प्रत्यक्ष सदस्य हैं। हम तीन ऑफ साइट एटीएम लॉन्च करने की योजना बना रहे हैं। हमारे बैंक की मुंबई में 21 शाखाएँ हैं क्योंकि हमारा परिचालन क्षेत्र बीएमसी के भीतर है।

“कुल बीएमसी कर्मचारी लगभग 1.10 लाख हैं, जिनमें से 74,000 हमारे सदस्य हैं और इनमें 50,000 कर्मचारियों का सैलरी अकाउंट हमारे पास है। मुंबई में हमारे बैंक की अच्छी छवि होने के कारण, कई अन्य लोग जो बीएमसी कर्मचारी नहीं हैं, वे भी अपना पैसा हमारे बैंक में जमा करा रहे हैं। हम उनकी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं”, रावडका ने बताया, जो पिछले पांच वर्षों से महाप्रबंधक हैं।

पाठकों को याद होगा कि पिछले वित्तीय वर्ष यानि 2022-23 में बैंक ने 92.47 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close