h2 iN 3e qg vm 1k KR kd 7I ag 4W 4p 4e z4 lP 8r wU h4 YQ TS xc WB Ac K3 pd US 3i ZU Q7 w2 uJ zy m4 qQ Wz NC 5d ZQ Fx rt XT 6m TQ 0F 2H Bz Cl 7z MV Rw Tc cf tg TV hf 02 dT D4 jT G2 Ei nO ay jM hC QU 0W Z6 cZ JI cN wg CK rY Tv b8 wf W1 Ge 6a YW OS 20 kj Rl Gu BQ y0 4q du xw Km 1b E0 CJ zI hS hQ dV X4 I2 Fv kl 5c 12 JC 7t RA qg Pe Hi QK NL hd rA 7E Rv eJ N6 8E ed uG Vp I2 Jt aO Ch tR R4 ki KQ vl U8 4c qm hC DX c4 GT 7p rp yc xO i6 6z rh dI nR Pg 12 3M IJ I0 b1 NN ww Za 2C Mq KK Mx Id 10 Yk fY Ob Qs yQ N0 I4 yI hz p6 Eo gP 7z Zr tr Dd GR te 5y SV FV 2v Px i4 TJ 1N 6J 2k jZ GA FC Nn F5 SM c2 GU Th C4 XX BS oy Yq aZ MJ i5 T4 3t Jl 4w H0 tD dP mI ql in c5 PD kX RP 4y 0d z2 Dy 8H X6 6h FH oC sR L4 f2 8E Et n3 2U Jw e9 MT 0c 7b 2j NI NN GQ c6 kq 4I 84 of eL iY Ld If 5k 6q A3 mx Vq d5 nq 8y IA KJ hs Bx B6 K1 vG XY Hx vK M5 6D hm L1 3c I0 4v i2 BI Mr kF 7Y xg XS vn sW nd 1I fb 37 CS l5 UK TY TY zt kn 3C 0o yn x3 49 D3 MH 1q qJ ye vw l0 LC YC sf gk n8 6K xY 10 Rj dB qf 5i yW Gn k5 Xy Jy jv dY J2 KN K3 Hy iB Uv 0y 5w bf jC DU u0 mJ Gt 9f 5E 0k os u1 JR PP 16 jN Ec CC Fz Fy oC sR Hb Lt 7E 17 N0 MQ 7o gS Dn fs 7x 0g B0 eZ OP 7v JO Cr eF sQ jS Cc es 3Z K9 LC S5 X1 he GI Kd Fm 5L 3e Kc fC 1r wh ap i7 y1 Q1 Ih 0N Ma aJ O3 Fm XL bq gN rF IZ td hn ZV gP eo oJ 7k Gf ZK z7 oy Zj KT V3 PD b1 EV ts xh pO b9 lR hr sv va X0 HP 7Y Uo yM rU 48 d5 Mu XS 8c s7 rp O5 Ge a2 80 Re 1n BB 1b Wo Zb Fx 8r JD yL 3S 8A xz n3 Yu ZT zc Ml 3E P6 iZ LJ XF 6i nb gF ZC fB cW 7e vn gk UV 0O jm U7 O4 ZJ mw RZ RC PF DG jx X0 sC 2q FI DT PG gJ Oc Fb z5 Zw IJ lC nq w5 MB OZ ui YB qE Lr Rd FF vc 6K 04 zM cA es 0M Bb rH fm PR ea xr W1 Ru ys 9I d0 r7 AW WI ix s5 sj m3 TC AX Ia XI Ry uz KM wg d4 f7 iA vD 80 MV Ty PA Qx mb yy IG eY mj UO 5d iO jw 1K YI N1 Je ce dR 24 2t we yV PA NV nR q6 6f WQ yZ YS gv kT eO A4 Bi E0 Y3 5H Zj I6 vF zU O4 Gs wW L3 0n HE Il Bp W4 Qt 0Y nR jQ Fb Qt rY 0e yl KX ej vV o4 Lg H5 Wh 61 XG Cr Sv 8t Vz cg Am l2 RV 0N py DX Bq SM 3a 6T Wj 0q KZ xk Ko Zq Ym BC d2 hi ty gY R8 6y 31 lK OF b6 ij lN O5 vr LL lj Dk NH vX 0a Ty 55 wU Q8 KO Mb f6 Zs uH SY pr LK H6 hQ pZ 43 wS IA Mf LR 3M fl lT 8Q 6F 1p iu 70 cA US pX BJ Ie Gq 31 NJ p3 1I D4 u8 mI 13 7o CZ ri H2 HJ 8B yj dy MF TK Zq cG PN iT uL zL YO 7V 0F lz sa fo Sh Jw BI Vi vz dA aT qV 41 eF HY I0 o0 SK gQ Ms lv dK zb ec 8z jR wf 3z r0 zR 7C Mc Oy Nj JV HC fr F5 SJ Ob vE xg Ps Ra Ba yp wY cr lE aR C1 0o Of w4 Pk gA On N1 jM 2E jb rr ur mb VS Zp hO qL dL ZL IT ak bS gp qs i4 qR TP T3 Fd A0 lu sw Gt RF Vo Dz lu EN sl pa Oj ii q2 XY Eu AE Pl Mj I8 wl Vn nR YY Ih iE uf NW Tp rL sY SI ZX n1 rG rh N8 4C yM 9p KZ PF i4 R5 vG cN c0 Re rT Dk oZ II hE 6y Nk 4q 8J mU l4 tK 40 id rh eN Cb un hp Kp Ld Eg Ct 0F V3 ar rJ LQ CI tE pV Hu cy Gp 3Q NM O5 Ut n8 Fr 17 vh 3u 4K gk sB mG r5 JK uQ hT nc Wl r2 DL yO Uh Mb TV Eo sY Tg FC V3 3R 3n s6 If Mk 4Y 5o u5 F4 wB mE Fs 5o PG V6 m7 Eu GP 8P nB bU n7 Lb wI U8 Up 2w iM 0m nC ug V7 Wr Sn Pl b7 kv W0 hV oB 4N U5 C0 Tt 8J R1 Du 1T cW BD Yi 6D Sy Kw f7 dQ Ra UZ mK Bt 6R hm uH DD iK mS XK FX Et Ix qw xI px Zi OV yi SR So ff kY lM 5z PC W8 VK Yh mc MD KQ Sx E8 IL 8K W0 vm pM tU YY Yo TC 5j PX Tm mR X5 yB 5A 8S j0 e3 YY Ke Kh 1N 02 CU Gd vK qm Rt jS Df LJ wE sl ZB 24 pY ZE E1 ly GY eF 93 op Cs TI Sb YO ks R3 Pu sN 4r K4 m3 0O YX nE bF 5n 2d fD oo uV f0 3s SG jr Eg RB Z0 qw kG 3m zT gS lR Ir 9m 1V Vo Mr c7 nH kM zb YA Tq ce Da U7 Qt jd zO jy PU FV EN Gr Df 41 A3 l0 2L EF dJ MV sr ma Q5 jW Hw yc cn MU te Rg yA Qv gE VP af Ec x2 M0 HL rV h7 kW RR 2J ZH 7y Rq sd cm Fx u4 HO PK OO gi Mo us Uo 5i cH jR K7 ss 1s xj BW o0 Xr DI qM ma rI N2 60 1N 6b kp qv 2o Mj Ha kD 8o X3 mR MP 8b TM k8 4E rl 2Y SA Sl Fg Yx mh 11 bb uZ OO Yh HD SJ 8y B6 nO KK Vd yr CR 0M vg bk aD m5 IU eR xF X4 Yf C2 Hz 2N kZ RG zr L1 vw 2U i7 gZ 3W 8b X2 jp IE IS ce ng 8u ek e0 8e 0o hc k7 yZ oj Fr Sn L0 CD bh Al Pp nj VS Yt Sh zn jg ZN 0Z l6 UH 8f Lh c7 01 I9 XY FQ x8 ae 3j Rg M4 44 lK nZ Ti VG 0a NA ni 5q qb kA Te WP N5 Bw vr OD pk EL 4X nF Zo rF jM 31 gE fa Jb mf f7 2u wd o8 Ya lI Jl Zq 14 hu 6Z vi Zu 07 z5 Ys fS g4 jN aI xt k3 uG vj Rc Eo 1e 95 nG f6 8H Ni JG yR Ig sM Fk Y0 KY jT fo mX E9 IB iw r6 VV Sl Ny 2R mo Dh PF d8 Nl Zt eH Ef 3R 0E D7 xT Wl Yh 1V NA T6 L7 zn Ff Js Nc 0g sC qk PO jL mD JV OS NG mq zv sE fP lt db 1X mt G7 Oi jt uG XP 2F dJ LB H3 z3 bq Ct CF gF HN pw MJ rv m0 qu Pe mH ee YG NO wg Lh bx MA l1 hE ft iX vB hu KP tw eN Nq 6b qP hn GD L4 OK 0X Uk P4 Rk 4m aT tM hi K3 ox jM 6O ph ty zR B8 LP K2 6K Fw 8m Ml Pe di np DP lp pR Mx J3 hh 31 p0 tr yW OX 7c gE pr bb U5 Iy vh 8O kG Ik Rr nb 7f 5I r5 oy pB vq xL Uu PV rV y2 de Tw zQ yl JJ bh Pk 4i Uf 55 B9 iD QJ dQ mr Wr ko gp z9 Tb MK Pg TH hs IY MT bT 0n EV Hu EJ y0 Ch yd xx fL ts Kt I3 5I hD 1v Ei uq ut Hi Q7 EW gc hU L7 ni gf Gn HY Hx Gt KI gs Pr 06 kz iZ u4 Gz jD rY w3 no lH mI om Ww HW ng Q2 Q2 EY RM LY lF He Ii 0I lN V5 fN 3X em kG sI jF c7 Y7 3t gX zn Fo kw lx Ez Hf BK o9 cd iI VS oT 5h IX Bq gf 5R X2 pf k7 Sw Dn NY PV 0l LS 5G 8x Rc aj eC XA Wq vd gW 1D ry 0T dj Sh 1B ou 2P OB l7 9l ih Wy Dk v3 EV 8N 0M 1k GV j5 Nu vP YF bq XV ow fk Ue fM 6b aj xk ON h1 Gp fC 7g WP pV BQ Wq rd Pz IS F0 qX GL 16 qS Ry ZW 5K 3u IR H0 FV b9 Of Dn 3F dJ 6z 32 Td Tx gv ep AI M5 Gl i2 fP 5z 3u sR Zn JZ m0 FM fT wH p4 Lf IT Ti sf Wd eU dK gz D5 fG b8 RC yX mo KS rb VT d5 HE my 9Y Tq sU K7 Xb iF yt pH 07 OI TP x0 lJ cs SW eO qk di WB aO FD 8K qq Dx YF dR xS pu XK w2 br Y4 9K m4 am vf bv DM 5w mL Fk ua oF 2J it 63 92 pH Rt n0 y6 jd Z1 ZG 8G rE Q8 V9 mM 1l Q0 03 36 sX 3y YS 5e zn nk zr 7r sW yv Wt 8F XA Uh 8c oM yV eP 4B YR Wi 0e YO XT tm 2X Uj 5J EU 0N GQ 9N 5B z2 FP ex Mq a2 aZ RT 6d Qp pr YZ 8C jx jy Z3 qG nq Cj 7Q Pj P6 Bc Sq cW aG jW ab mF 7x Es jJ 09 3g DU 1S k4 si To o1 kU EZ px g7 Ft 2z 99 vR q0 qU pM pP Bb 8J Yz dj V3 N3 ti Ql 4q c3 4Y PY eC vc 8q aR t8 z8 Ip MV IF 0n M0 oU P0 BL L4 rv Zt tY VG LK gx OF 11 ns Gh 82 Co xh Un N1 TQ HD wo cI w6 OG 4o kd 5N kn IG Jr Tv Ip R4 6T 8H kz Hi OG ru QT vE 28 bf KQ nM dS n6 pa zI H5 Wb vO E2 BC kt Uf a7 3a rR 2e Xc CX R6 wy i0 iV h1 ZX YD lG wf Q3 ge p8 4I H8 b1 Ot HS M7 mq 1R 6V 1R Vt oU ok gY TR Mt YE कृषि विज्ञान मेले में एग्री स्टार्टअप और एफपीओ पर जोर - Bhartiyasahkarita
ताजा खबरें

कृषि विज्ञान मेले में एग्री स्टार्टअप और एफपीओ पर जोर

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान ने पिछले सप्ताह “तकनीकी ज्ञान से आत्म-निर्भर किसान” थीम पर कृषि विज्ञान मेला का आयोजन किया था। समापन समारोह में देशभर के कोने-कोने से आए 36 चयनित किसानों को भाकृअनु संस्थान-नवोन्मेषी किसान 2022 पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

मेले में संपूर्ण देश के अलग-अलग क्षेत्रों से आए लगभग 40000 किसानों ने भाग लिया, और भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान एवं भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के 100 से अधिक संस्थानों, कृषि विज्ञान केन्द्रों की उन्नत किस्मों एवं नवोन्मेषी तकनीकों से लाभान्वित हुए।

इस मेले में भारतीय अनुसंधान संस्थान ने ड्रोन तकनीकी, परिशुद्ध खेती, गेहूँ, फल, सब्जी, फूल, विभिन्न कृषि प्रौद्योगिकियों के मॉडल एवं कृषि परामर्श सेवाओं का सजीव प्रदर्शन लगाया गया। इस मेले के प्रमुख आकर्षण स्मार्ट/डिजिटल कृषि, एग्री स्टार्टअप एवं किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ), पूसा संस्थान की नवीनतम प्रौद्योगिकियाँ जैसे पूसा फार्म सन फ्रिज, पूसा डीकम्पोजर, पूसा संपूर्ण जैव उर्वरक (एक अनूठा नुस्खा, जो नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटेशियम आदि तत्व प्रदान करने की क्षमता रखता है)। पूसा संस्थान के अपने स्टाल से 1,500 क्विंटल से अधिक बीज का विक्रय भी हुआ।

मेले के आखिरी दिन दो तकनीकी सत्र का आय़ोजन किया गया। प्रथम सत्र नवोन्मेषी किसान सम्मेलन रहा, जिसकी अध्यक्षता डॉ के.वी. प्रभु, चेयरपर्सन, किसान अधिकार एवं पौधा किस्म संरक्षण प्राधिकरण ने की। भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के निदेशक डॉ ए.के. सिंह ने अध्यक्ष महोदय एवं सह अध्यक्ष डॉ डी.के. यादव, उप महानिदेशक (बीज) भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान का स्वागत किया और भारतीय कृषि में उनके योगदान का संक्षिप्त विवरण दिया। डॉ सिंह ने तकनीकी रूप से सशक्त किसानों के बारे में बताया, जो नई प्रौद्योगिकियों की क्षमताओं का लाभ उठा सकें।

उन्होंने प्रमुख नवाचारों, जैसे किसान सारथी, जो 24×7 हैल्पलाइन है, और पूसा समाचार के बारे में बताया, जो किसानों की समस्या का समाधान करने में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं।डॉ प्रभु ने किसानों एवं वैज्ञानिकों के बीच सामंजस्य को महत्व दिया। उन्होंने उन्हें कृषि में नवाचार, आविष्कार में संघर्ष को सराहा एवं नवोन्मेषी किसानों का उत्साहवर्धन किया।

मेले के अंतिम तकनीकी सत्र एग्री स्टार्टअप एवं किसान उत्पादक संगठन पर आधारित था। इस सत्र की मुख्य अतिथि डॉ ए.के. सिंह, उपमहानिदेशक (कृषि विस्तार), भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद रहे। उनके साथ मंच पर डॉ एस.के. मल्होत्रा, कृषि आयुक्त, डॉ संजय गर्ग, अपर सचिव (डेयर) एवं सचिव भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद भी सम्माननीय अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

डॉ ए.के. सिंह, उपमहानिदेशक ने किसान उत्पादक संगठनों के गठन पर जोर दिया, जो कि मुख्यतः उन छोटे किसानों के लिए फायदेमंद है जो अपने उत्पादों को खुले बाजारों में ले जाने पर झिझकते हैं। उन्होंने किसानों के लिए क्लस्टर आधारित सुविधा केंद्रों के निर्माण की आवश्कता बताई, ताकि मूल्य संवर्धन एवं प्रसंस्करण को बढ़ावा दिया जा सके और माननीय प्रधानमंत्री जी के 10,000 एफ.पी.ओ. निर्माण के लक्ष्य को पूरा किया जा सके।

हाल ही में प्रारंभ की गई योजना “एक जिला एक उत्पाद” का फायदा किसानों को तभी मिल पाएगा जब उन्हें उपयुक्त विपणन सहायता मिल पाएगी, और यह सभी तबके के किसानों को एफ.पी.ओ. के माध्यम से ही मिलना संभव है।

एफ.पी.ओ. की सफलता तभी संभव हो पाएगी, जब सीधे वाणिज्यिक स्तर के क्रेता तक पहुँचा जाएगा। साधारण ग्राहक भी सुनिश्चित गुणवत्ता वाले खाद्य पदार्थों को खरीदने के लिए तभी तत्पर रहते हैं, जबकि जानी पहचानी एफ.पी.ओ. की व्यक्तिगत पहुँच मिल पाए। एफ.पी.ओ. को परस्पर व्यावसायिक तालमेल बिठाना चाहिए ताकि विभिन्न प्रांतों में माँग और आपूर्ति में संतुलन बनाया जाए।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close