केरल में बहुराज्य सहकारी समिति को कैसे स्थापित किया जा सकता है?

राधाकृष्णन एम.

सर,

मैं भारत सरकार के सहकारी विभाग की संरचना जानना चाहता हूँ। क्या, केरल में वहाँ एक रजिस्ट्रार कार्यालय/ संयुक्त रजिस्ट्रार कार्यालय उपलब्ध है? हम दक्षिण भारत के एक बहु राज्य सहकारी समाज के पंजीकरण की कामना करते हैं। हमें निर्धारित प्रपत्र में आवेदन प्रस्तुत कहाँ करना चाहिए?

कृपया अपनी सलाह दे।

आई सी नाईक

सहकारी समितियाँ एक राज्य  तक ही सीमित नहीं रहती और सदस्यों के हितों की सेवा, सामाजिक और आर्थिक बेहतरी के लिए एक से अधिक राज्य में सदस्य स्वयं की सहायता और आपसी सहायता के सहकारी सिद्धांत बहुराज्य सहकारी समितियों में माने जाते है।

अन्य बातों के साथ-साथ निम्नलिखित पंजीकरण भी आवश्यक हैं।

1. सोसायटी का बहुराज्य सहकारी सोसायटी अधिनियम 2002 के तहत पंजीकृत होना आवश्यक है?

2. एक  योजना  जो बताए की बहु राज्य सहकारी समिति में  एक व्यवहार्य इकाई बनने की संभावनाएँ है।

3. बहु राज्य सहकारी सोसायटी के प्रस्तावित उपनियमों की चार प्रतियाँ ।

बहुराज्य सहकारी सोसायटी अधिनियम, 2002 निर्धारित नियम 3 (1) के तहत केन्द्रीय सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार नई दिल्ली में आवेदन कर सकते है और इसके लिए प्रत्येक राज्य से कम से कम पचास व्यक्तियों द्वारा हस्ताक्षर कराने होते है।

इच्छुक सहकारी सोसायटी को बहुराज्य सहकारी सोसायटी का दर्जा देने का अधिकार केन्द्रीय रजिस्ट्रार को होता है वे नई दिल्ली, कृषि भवन में बैठते है।

केरल की तरह हर राज्य में सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार है जो राज्य में आधारित सहकारी समितियों का पंजीकरण करते है। बहु राज्य के लिए, केन्द्रीय रजिस्ट्रार, नई दिल्ली में आवेदन कर सकते है।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

Twitter