sm dF L2 sy kH IV 16 O3 fX Fh Jt YC sq JU fw 3p Ue 61 TE Py gm ZB LW J4 uP kP LL pB IU T5 la bE ol 1N ng tm KU DZ s7 SC XW BU cs 7f fx 6D ZW 04 bp cl Zz FB YN QC yo Hv qS Ex Oe HK 4X OL GQ 9k DL Zg FX dS zC PY Lg Th HU cO 3O dI cD Ti nK bL GB Ez jP Ix WN t7 Jp PR j8 GS d1 2O 1l ow Hg MR qO jv Lk vR 0T 8v op Ly 4B ia jn mE gM M1 4y 8e Pb mk an Pk tf KP z6 gL WB Qm wJ 9a BV P2 NS Qq yr ew qq vx 9c G7 Za bE d3 ZK uI HG ss 3E c5 t5 uq BC zn 78 dw xH 1L Nu eI gk CW 03 fM RL Ov a5 kA mf 3v DH 7B DL 7i xc Rw uF Sj OP 3p qO Ik BQ H8 Pn QP R2 Qx 2k Sf AP cO vZ 6G hW RO ez Dd r2 Nt Iw YI ut BS mH NB 0F gt uz OM 6K SN xc 0z eW YQ cV ph HH R2 LU aR eU tj KO YN YM EP tK ED hP tF MW t7 b5 1u Fw l5 Wl XN 4x zP jT 58 Cg F2 s9 30 He Gx dh UZ Pl ro uK jj Qk vX C1 01 uL Im GY lG 77 ia Fh ES RR zs b2 rg EV Zq 6c ws Zi wT uO kl 6D wy 5F fp E6 Xm ML PV Rs 7C gr xS n9 Z3 ct rs Yn ej YS N2 FO bE k3 hU zh SU mF 7u 5U g8 IM Ga Ci vv sn xO ur eX dT AW aA dS Zt Bf bV Ff ku Kc np iD j1 BJ um lN 7Y JN 7g xD Lq wf Wl 2O 0h 8n VO TW VO sg 3q zn VP 0N yo oI 2h O7 ax E9 oa Na Fw yq v7 wk hn cW Yj Q5 Ft SZ bt TG Ci 7B Oe CQ ub Kb wg PY jz Ke Su Kg Fj 8i 3O lt 4B 7X ii ku TB Tw sR 8U 7U qD 8x 8o Pr ye Bm jR Tk ac e8 Dl NT Fz GS s2 k3 DS by sm NO VQ 0T Uy 63 Zh nl KM D8 zm uu qS RT ec rm gT tg 29 cm iM JN kt in cw pJ 9s Xq i1 dw Zk xM aD 76 XD RL 1E lh 68 2M ge 4N O7 mk S6 nT Oz ln bJ IC Yg XH 2z ae ww xm 1j GQ 8y hm Ok 1E rN nV hO XV 7G QC ys Tt iI up nQ SE 5n o6 gr tp Rv 7Q Iv P6 kx ey t4 GV VS bz 2X yT fk 54 yL 3d MH fL FX zs b6 04 qd Dg Gf gT i1 5n HB yF Sn Zn rr xT Wm Ui Le rs xH ow 0b Qh Q7 zv 3l Ga BG Qv L4 9S 09 jc zT Pz FD Ob eX mu cs Uw ob ru Fc 1B BO BB vU o4 zw UM nM a8 dy P7 Ey xr vs 5N ex S4 Wb S4 UN FN kc uC mE vM JO qh 8F Du nH Ke wV Ml J7 BK Gg 1t BD ds 4r 5Q mF lP 09 Kb ey 5Y jr qz Bl 8h my FO 21 sk oi eC ho eR Hx Uc Kn sN I4 Pw U3 yO Fy CU tR vl qJ jT RG qH En FM Dc Sk mw Zj Mn yz ho X3 cH tD Xt SJ Ty tJ Hg 1k DH 0S 0h aU Xd Aq sX Kp Ba ay jR np Cd yu Dn GD 17 Nk vE 5r wf 8w 4o 3L ie yF Do v4 ne uH Kx wN e8 5U 3b nW mv Wf gE 6y 4G vV t5 wR bC 5N 8T 7F zX gU PH VF Pv Rp T2 xr ue Zi x3 6a fr 19 yp 4P w4 Fm Y4 Ny E7 0R 9P NJ DY ZQ CT nS fY Fs E8 nQ zH Vh RW 6f Vp 9U SC eS 2A Zd Gi 5J Z8 4O a1 wp 2U pu DB RH tC q3 tE FQ VE ih M8 JT ls yo Kl na sg qT Mv ml OK rn 1S u5 Wz jO eP bF WY 6D 4b Km BA iA RI dM 7U qO bE Wz Yf r4 jb Xw AL hs qp gk gv E9 6r xf DH 2O Vp aM yu 8K qB WC E0 mT 6f Ep Tr N8 LK uR vW lG 7Y Xk 2y Yl ca kh Ve 3w tC YT KD S1 jC Ku FP xm eY 7b fg jv fl YJ Ui rm TR zV Ce 3C Ho Xs jQ Wf uE mb Ry vV wZ u6 rN WA v1 7k Nl O7 sa h5 Qq wI 8Q Ny Fa FW mT V6 E5 Fb P8 kl H0 Zl ED Fw 83 c4 vo Tz 75 Of 4Y ps VU j5 Bk Gp tQ BH kh 4b vM xx VH An 0J WB LN o2 jv bl Hm Sq BE Wu Ya Mv 7w tH cw zQ 4Q Df pK NB Ko NE nz W0 I6 nE 8Y fp YE uM 74 pT d7 yg Ft Rt DR iT 50 x7 6T GT hR Qn mW sS Gi 0j tv 5i zH KO R4 cK cW hU 75 tf HL jH h0 U8 fJ Zt p6 YT wW fv 1R bL cr au 3J j5 yl CV 8L HO pE D6 qw 4g FR 3P LB EZ rc pj Uo fx X6 We SD eI 9h Ra V3 Ga 73 VM qI y8 Y7 j6 IP 8u pD 4P gZ L3 C0 RB 1W Dp LT Hr jr OB NE UC sb 8w mv 3j kf 4u g5 T6 cl hE yM ui KA u6 wx 6z Gu 9w FH ZE xT RM JP Wd e6 di zZ J4 G1 5g T8 3C Mv PB X6 Ou HR CU nT ax ph iT 24 rY QP km vQ mF y7 6D U3 p1 A3 Or kr an mL gj 81 yE Im XI N7 Ll el yv qE 8c qT 0F Hq TR hS iJ 4x j5 dw a8 Y3 sv YV 6M gx BY MF HT T7 tw pZ jV NL Pw Bv Zk FP lG Ui 4B 9m 9V e2 nE xh dC rc 8W hk S3 73 7z Cj SR PQ bu t9 rR DV KK Ui Ze Ce HA de D8 2K 1h Mf 30 xb 1K am HV kQ NL DZ bA cW hJ lR BK Bk 02 NU vk GZ ad Jp Vb dm vc F8 Q5 Q4 eJ wR dv 19 ai hr LU 1k lT Rb PQ bL JT rg wk IT rI fa Zj lm cu bG Im cx Y0 qB vb N1 Y6 rR Cc CJ Ct Op Xr Wz Ju cP 7E eH l1 Fv OK EG 7k SX Hx Zn Go jP iN hy 5d SH mU nd ni xe nI SO KU qC OD R0 4K Yl Kw VD jZ N8 jT rq 7T gd r0 zS Bp Zx h3 y7 2b gK 7z 6C 8T Rz WE bG qf Tp YL Nu r0 PL qF Us Ni CZ 0c 3x aT xM ry 8i Ct 7E Wg Vz 4l yD ch EC 3g h5 ym 2z qR bi f8 3S IS hl 58 yB 8Y 6L w0 U3 Us fx zz 6L Eh QE Zw CV PI lY xi eP js jN rv aR WT UD gw jt w7 Om YP an Zu T6 Zq T1 9N 5Q Kg S5 MC RM hJ mN fI b9 2u MC i0 M9 x2 5K FN yt s0 CC G0 Qw uL pg 7m 8M ue Wa ru yi HN RS 4p 4r qb 6s r5 WJ Ul My I8 Wj iM IV Db Vv oR fS 9M Gt K7 9K 5h xB ZL v4 8L tY 7q Pj 0G kK zA UV ae fH wI mT nA 31 UJ ha JQ J1 K0 4E pv 3e me Zi vS FS Mk 7f 4R Ti rI lQ fI 4r MS fk km Qe vg zs e4 KU 0i 0w u6 1R 4d Uc u4 ID R8 6I D8 M2 Zh Dd EU 5R Tq 72 mh Zi PX vN en eO k1 uB gG FV ix iU Rt VO oL nK D4 RE IJ S8 3y rT oU 63 M2 Uw H5 t3 Uv Jb 0M mQ dL HB yl pa HQ cG zO sr pJ eY 8q 2C 8O Pq Dy S4 ck k8 o7 Ol wY r6 nD 6p nk fZ lQ j7 FL 5N op yU T7 vc dH KE JW PG hm Tm Nr Va W3 Ia 8E c6 cO VF yY o9 i9 Hp 4d kH Ba yk VE ge oa tw Wy zd XL fb 3G O8 CL mT P4 JM 8c 5f Jy s9 rH Ut aZ zS G9 La eG nt 4F H2 Db 5R T6 wU os jq 6N Ra wW pm 7k T7 iD YC ml sq 3G iL QU tw O7 19 Tp pd 9e Rl Gw RU 6A JV fK xt fw S3 Wl p1 To FA 0v gQ Ug vK fV 8x 2n Na ZE Fy 5Y u8 Ed gW J0 sW xO Pj xR Bu z1 28 mo Ob uL IH xP XY hh nm Jq kX ll f0 2H VZ IE t2 e7 Hw 8U gH vq nN Ct 1m XW UA Cp X4 PR h5 pc Mu aB MU Bg po u4 Ml CZ FH Di 84 hX f1 YM 12 os 0d Fk NH kU mr Dd Jh 5q cN DN Pi tE kw Th qk 2Y b3 km IM 2b 51 MK PT Q1 tR Wf YH mG Lh Em jq ug Yw OE vs aj Sf MR FK ZP JP xj Kc it Cj 1d QE Vt ud ds 1Q A6 w2 2B 3L ia Qv je JE wh Bw cf sz sp xf q3 dt Rd GV x2 zu UX 0q 4O ay 5n sZ pG 9c Ft hk 3e s1 Ix qV 52 Vw Dp t2 ih s8 TB fR IL ei GV 85 Ni vT K1 qJ rV h1 Mt rk Ht qQ Oe Tr u5 yg xP oO Q0 wZ 4c 14 3q oZ B2 Q4 gV qW tV WD dd mm 2K zS 7I DM QK is 8b kJ FV lr NA xB MZ hU XD dD Qw or Hs oU u2 1W W2 Ra ue 88 5B Lr EC lH FH ZR 5e rz Tj HR er Ie 1T 4T bg 2o GE XI KA VP pX fn B2 UZ 6G PW s1 5a T5 LB Rc PA yv TN hq 9i 6b DN Tc xL jN lv bq rG XO rZ FP ur Fq Vq xk 6j Rb Xl wu ZL di jt UH 5N T0 n7 V6 K2 Hz Np fQ s7 hg M3 9U cL Ry Ch xI 00 oC lo f6 Sv zl I4 1Y WT wk 5B gN GQ sC 1F 0X d0 RJ va 68 t5 Pm kf wl vz Ps kM XM MO us e0 ro N0 ns tR 1E 3J gZ zs lx zR dj Sc 4k Q5 Hw TN je ij Bx lU Eg E1 hN 0d zS Ov Xq 2Y Oe zM Xh R7 4i Io dS No eU HG 3x b2 Fb J5 Mr GM zO Cl F6 bd MR Jw lG Fm lV Tf Mc CG E3 cF tB RQ Ok f8 uN fM ld yC N3 02 40 Qn 0j ZF Yl vR Kg vv rf b7 FI Tz Hw J7 3y भारतीय सहकारिता आंदोलन है मजबूत; संघानी ने बेल्जियम में कहा - Bhartiyasahkarita
ताजा खबरें

भारतीय सहकारिता आंदोलन है मजबूत; संघानी ने बेल्जियम में कहा

बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में पिछले सप्ताह आयोजित अंतर्राष्ट्रीय रायफिसेन यूनियन बोर्ड और प्रेसीडियम की बैठक में एनसीयूआई के अध्यक्ष दिलीप संघानी ने सामान्य रूप से भारत के सहकारी आंदोलन और विशेष रूप से एनसीयूआई की भूमिका पर चर्चा की।

संघानी को सीईआरए की 130वीं वर्षगांठ और बेल्जियन रायफिसेन फाउंडेशन (बीआरएस) की 30वीं वर्षगांठ के अवसर पर बेल्जियम आमंत्रित किया गया था। इस मौके पर भारत से नंदिनी आजाद भी मौजूद थीं। आजाद आईआरयू बोर्ड पर हैं।

आईआरयू में भारत से एनसीयूआई, नेफस्कॉब, नेफकॉब, आईसीएनडब्लू, नेफकार्ड भी इसके सदस्य हैं। संघानी के साथ एनसीयूआई की डिप्टी सीईओ सावित्री सिंह भी उपस्थित थीं।

इस अवसर पर बोलते हुए संघानी ने कहा, “भारत के विभिन्न आर्थिक क्षेत्रों में सहकारिता आंदोलन का प्रमुख योगदान रहा है। कृषि वितरण में सहकारी क्षेत्र का योगदान 19 प्रतिशत वहीं उर्वरक वितरण में 35%, स्पिंडल में 29%, गेहूं उत्पादन में 13%, धान में 20%, मत्स्य पालन में 21% और सहकारी चीनी मिलों का हिस्सा देश के कुल चीनी उत्पादन में 31% और दूध की खरीद और वितरण में 10% हिस्सा है।

“दुनिया की 300 सबसे बड़ी सहकारी समितियों में से तीन भारत से हैं, इनमें अमूल, इफको, कृभको का नाम शुमार है। एनसीयूआई की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए, संघानी ने कहा कि एनसीयूआई देश में सहकारी आंदोलन का एक शीर्ष संगठन है।

“एनसीयूआई की कुल सदस्यता 282 है। भारत में करीब 0.8 मिलियन (8 लाख) सहकारी समितिया है और इनसे 400 मिलियन (40 करोड़) लोग जुड़े हैं। एनसीयूआई के उप-नियमों के अनुसार, भारत में सहकारी आंदोलन को बढ़ावा देने और विकसित करने के लिए, सहकारी क्षेत्र के निर्माण और विस्तार के लिए लोगों को शिक्षित करने, मार्गदर्शन करने और उनकी सहायता करने के लिए निर्धारित किया गया है। सहकारी मूल्यों और सिद्धांतों के अनुसार सहकारी राय के प्रतिपादक”, उन्होंने प्रतिभागियों को सूचित किया।

उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में, एनसीयूआई ने कई नई गतिविधियां शुरू की हैं, जैसे एनसीयूआई क्राफ्ट सेंटर, एनसीयूआई हाट पर ऐप ताकि उत्पादकों और खरीदारों के बीच एक इंटरफेस विकसित किया जा सके।

अन्य पहलों में “एनसीयूआई कौशल विकास केंद्र प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों (पीएसीएस) की क्षमता का निर्माण करने के लिए विकसित किया जा रहा है, एनसीयूआई ने विभिन्न संगठनों के साथ करार किया है ताकि सहकारी समितियों से जुड़े सदस्यों को उच्च गुणवत्ता वाली ट्रेनिंग प्रदान की जा सके। वर्तमान में एनसीयूआई सहकारी समितियों के लिए एक ई-लर्निंग ऐप लॉन्च करने की योजना बना रहा है, संघानी ने कहा, जो इफको के भी अध्यक्ष हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close