राणा ने बिस्कोमॉन किसान केंद्र का किया उद्घाटन

गोपालगंज केंद्रीय सहकारी बैंक की एजीएम के दौरान, बिहार के सहकारिता मंत्री राणा रणधीर सिंह ने कहा कि सहकारी समितियों के विकास के लिए राज्य और केंद्र सरकार दोनों मिलकर कार्य कर रही है। सहकारी क्षेत्र को सराहते हुए उन्होंने कहा कि पैक्स समितियों के अध्यक्ष किसानों के जीवन स्तर में सुधार लाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं।

इस अवसर पर राणा ने गोपालगंज जिले के भोरी ब्लॉक में बिस्कोमॉन के चौथे किसान सेवा केंद्र और एटीएम का उद्घाटन किया। बैंक ने मंजा, करौली और कटेया शाखा में एटीएम की स्थापना की है।

बाद में, राणा रणधीर सिंह ने गोपालगंज क्लब हाउस में 100 साल पुराने गोपालगंज केंद्रीय सहकारी बैंक की एजीएम का उद्घाटन किया।

बैंक के प्रबंध निदेशक बबन मिश्रा ने वित्तीय रिपोर्ट पेश करते हुए कहा कि “पिछले वित्त वर्ष 2016-17 में बैंक ने 46 लाख रुपये का शुद्ध लाभ अर्जित किया था। बैंक का 442 करोड़ का जमा आधार था और 106 करोड़ रुपये का ऋण और एडवांसेस था। बैंक ने पिछले वित्त वर्ष 2015-16 की तुलना में इस वित्त वर्ष में अच्छा प्रदर्शन किया है।

अपने संबोधन में सहकारिता मंत्री ने कहा कि “बिहार की पैक्स समितियां किसानों को उचित दर पर गुणवत्ता यूरिया प्रदान कर रही है। देश के विकास के लिए गांवों का विकास होना बहुत जरूरी है। हम सभी पैक्स समितियों को कम्प्यूटरीकृत करने की योजना भी बना रहे हैं", उन्होंने कहा।

इस अवसर पर नेफस्कॉब के उपाध्यक्ष रमेश चंद्र चौबे समेत 250 से अधिक प्रतिनिधियों ने शिरकत की। बिस्कोमॉन के अध्यक्ष सुनील कुमार सिंह श्रीलंका में आईसीए-एपी की कॉन्फ्रेंस में भाग लेने की वजह से अनुपस्थित रहे, उनके दोस्तों ने बताया।

इस कार्यक्रम के करता-धरता और गोपालगंज केंद्रीय सहकारी बैंक के अध्यक्ष महेश राय ने कहा कि “हमारा बैंक आईएसओ प्रमाणीकरण हासिल करने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है और हमने सहकारिता मंत्री से पैक्स समितियों को पीडीएस का लाइसेंस देने का आग्रह किया है। राज्य सरकार द्वारा किसानों को दी जा रही कृषि आदानों पर सब्सिडी को पैक्स समितियों के माध्यम से स्थानातंरित किया जाना चाहिए”, राय ने मांग की।

महेश राय ने बताया कि गोपालगंज जिले की सहकारी समितियां अंडे की खेती पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं और इस संबंध में नाबार्ड से मदद मांगी गई है। राय बिहार विपणन संघ बिस्कोमॉन की बोर्ड पर भी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Facebook

Twitter