आईमंडी: इफको ने सबसे बड़ा ग्रामीण ई-कॉमर्स लॉन्च किया

शनिवार को इफको ने चंडीगढ़ में एक मीडिया कार्यक्रम में एक महत्वाकांक्षी ई-कॉमर्स ऐप लॉन्च किया है जिसे "इफको इमंडी" का नाम दिया गया है। इसका  लक्ष्य है करोड़ों किसानों को एक साथ जोड़ने और उन्हें कृषि से संबंधित किसी भी प्रकार की सामग्री खरीदने और अपने उपज को बेचने के लिए सेवा देने का।

यह माननीय प्रधान मंत्री, “श्री नरेंद्र मोदी" द्वारा “डिजिटल इंडिया” के दृष्टिकोण के अनुरूप है। इसमें इफको के सभी ई-कॉमर्स और डिजिटल पहल  इमंडी ऐप पर उपलब्ध होंगे, इफको ने एक प्रेस रिलीज में दावा किया।

इफको विपणन निदेशक योगेंद्र कुमार और आईएमडीई पीटी लिमिटेड के संस्थापक श्री वी के अग्रवाल  ने संयुक्त रूप से मीडिया के सामने इस ऐप लॉन्च को किया। कुमार ने कहा कि सालों पहले डॉ यू एस अवस्थी द्वारा देखे गए सपने को ‘इफको इमंडी’ ऐप पूरा कर रहा है। अग्रवाल ने ऐप को फेसबुक, व्हाट्सएप और अमेज़ॅन का मिश्रण कहा ।

इमंडी इफको ईबाजार लिमिटेड द्वारा एक  अहम  निवेश है जिसमें  इमंडी प्राइवेट लिमिटेड का अहम योगदान है। सिंगापुर आधारित प्रौद्योगिकी कंपनी ने अनुभवी पेशेवरों द्वारा इसे विकसित किया गया  है। इस पहल का उद्देश्य हर किसान को डिजिटल प्रौद्योगिकियों  का लाभ देने और ग्रामीण भारत में इंटरनेट अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देना है।

इफको के प्रबंध निदेशक ‘डॉ. युएस अवस्थी’ ने कहा कि, “ऑनलाइन लेनदेन के उपयोग के प्रति  किसानों को संवेदनशील बनाने के लिए पूरे भारत में अभियान चलाने के बाद, हमें इस ऐप 'इफको इमंडी' लाने पर गर्व है। यह कृषि इनपुट और उत्पादन, एफएमसीजी, इलेक्ट्रॉनिक्स, ऋण, बीमा इत्यादि के लिए "वन स्टॉप शॉप" है। इमंडी कृषि समुदाय की सभी जरूरतों को पूरा  करेगा और 55 मिलियन किसानों  को इससे जोड़ने  का लक्ष्य है”।

इमंडी प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक वी के अग्रवाल ने कहा  कि "इफको और इमंडी निश्चित हैं कि इस भारतीय सहकारी डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से, वे हर घर, हर गांव में बड़े पैमाने पर सामाजिक परिवर्तन लाने में सक्षम होंगे और अपनी डिजिटल समावेशी तकनीक के माध्यम से एक अरब जीवन को सशक्त बनाएंगे"।

यह परियोजना एक बड़े पैमाने पर लागू की जाएगी। 55,000 से अधिक प्वाइंट ऑफ सेल्स, 36,000 सहकारी समितियां, 30,000 से अधिक गोदामों और 16,000 पिन कोड पर 250 मिलियन ग्रामीण उपभोक्ताओं तक इफको इसे पहुंचायेगा। यानि कि भारत के एक तिहाई से अधिक भाग को कवर करके इमंडी भारत का सबसे बड़ा ग्रामीण सामाजिक ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म होगा। अग्रवाल ने खुद को भाग्यशाली माना कि उन्हें इफको के माध्यम से किसानों का विशाल नेटवर्क मिला है।

इमंडी ऐप एंड्रॉइड फोन के लिए प्लेस्टोर और आईओएस फोन के लिए ऐपस्टोर पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध है, इसके अलावा आपwww.iffcoimandi.in वेबसाइट के जरिए डायरेक्ट वेब पर पहुंचा जा सकता है। विभिन्न बाजारों के माध्यम से आवश्यकता को पूरा करने के अलावा, यह किसानों को व्यस्त रखने के लिए संचार (चैट और कॉलिंग), मनोरंजन और सूचना / सलाहकार सामग्री भी मुहैय्या कराएगा।

सोशल मीडिया और संचार सुविधाएं विभिन्न क्षेत्रों के लोगों को एक मंच पर कनेक्ट करने में सक्षम बनाती हैं। उपयोगकर्ता रुचि के विभिन्न विषयों के आधार पर विभिन्न मंचों में शामिल हो सकते हैं; वे विषय-वस्तु विशेषज्ञों से बात कर सकते हैं और विभिन्न समस्याओं पर सलाह ले सकते हैं। इसके अवावा वो अपनी सफलता की कहानियों भी यहां साझा कर सकते हैं!

कृषि इनपुट बाजार के तहत, किसान वर्तमान में उर्वरकों (रसायन, डब्ल्यूएसएफ, कार्बनिक, जैव, आदि), कृषि रसायनों और बीजों सहित छूट वाले मूल्य पर सभी इफको के उत्पादों को खरीद सकता है और अपने घर पर मुफ्त डिलीवरी   प्राप्त कर सकते  है। किसान टोल फ्री नंबर 1800 2000 344 पर कॉल करके या मोबाइल ऐप, वेब पोर्टल या कॉल सेंटर सहायता के माध्यम से लेनदेन निष्पादित कर सकते हैं।

“आने वाले समय में, किसान अपने उत्पाद को सबसे अच्छी कीमतों पर ऑनलाइन पर बेचने में सक्षम होंगे। इमंडी ऋण, बीमा इत्यादि जैसी विभिन्न वित्तीय सेवाओं तक पहुंच की सुविधा भी प्रदान करेगा”,इफको ने दावा किया।

इमंडी ऐप का अनूठा आर्किटेक्चर इसे 2 जी + फीचर फोन और 3 जी + स्मार्टफोन दोनों पर एक इंटर-ऑपरेटिव के रूप में काम करेगी। हिंदी और अंग्रेजी के अलावा, यह ऐप भारत के हर किसान को पूरी जानकारी देने के लिए 10 से अधिक क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध होगा। इसे वैश्विक मानकों को ध्यान में रखते हुए डिज़ाइन किया गया है, इफको ने दावा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Facebook

Twitter