कृषि मशीनरी एवं कृषि साख क्षेत्र में इफको का प्रवेश

भारत की सबसे बड़ी उर्वरक सहकारी संस्था इफको ने भारतीय किसानों को सर्वोत्तम कृषि आदान उपलब्ध कराने हेतु दक्षिण कोरिया की प्रमुख कृषि उपस्कर निर्माता कंपनी एलएस एमट्रोन लिमिटेड और दक्षिण कोरिया की ही अग्रणी वित्तीय सेवा प्रदाता कंपनी एन एच कैपिटल कंपनी लिमिटेड के साथ नीतिगत साझेदारी करने की घोषणा की है।

इफको भारतीय बाज़ारों की मांग पूरी करने हेतु एलएस एमट्रोन लिमिटेड और एनएच कैपिटल कंपनी लिमिटेड के साथ मिलकर कृषि मशीनरी की आपूर्ति, बिक्री और वितरण तथा वित्त पोषण के क्षेत्र में संभावनाओं का पता लगाएगी।

इफको का यह कदम भारत और दक्षिण कोरिया के मध्य मजबूत आर्थिक संबंध बनाने के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के विजन के अनुरूप है।

इस प्रगति पर बोलते हुए इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. यू.एस.अवस्थी ने कहा कि यह कदम भारतीय किसानों को वैश्विक कृषि पद्धति के अनुरूप सर्वोत्तम सुविधा उपलब्ध कराने के इफको के विजन की दिशा में एक पहल है।

उन्होंने आगे बताया कि समय के साथ इफको रासायनिक उर्वरकों के उत्पादन से आगे अन्य क्षेत्रों में अपने कारोबार का विस्तार करती रही है तथा कृषि मशीनरी और कृषि साख के क्षेत्र में साझेदारी शुरू करने के लिए लंबे समय से प्रयासरत रही है ।

अवस्थी ने यह भी कहा कि काफी विचार विमर्श के पश्चात एलएस एमट्रोन और एनएच कैपिटल कंपनी लिमिटेड के रूप में इफको को विश्वस्त साझेदार मिला है। ये दोनों अपने–अपने क्षेत्र की अग्रणी संस्थाएं हैं तथा किसानों के कल्याण व कृषि के विकास को लेकर इनकी सोच भी इफको से मेल खाती है।

डॉ. अवस्थी ने कहा कि यह कदम निर्णायक सिद्ध होगा क्योंकि भारत में कृषि मशीनरी और कृषि साख का क्षेत्र अभी विकासमान अवस्था में है और इफको के प्रवेश से इस क्षेत्र में नई स्पर्धा और ताजगी आएगी।

उन्होंने यह भी कहा कि किसानों के लिए यह एक पूरा पैकेज है, जिससे उन्हें इफको का भरोसा और अनुभव तथा दक्षिण कोरिया की उन्नत तकनीक का फायदा मिलेगा।

उन्होंने ‘स्वाभाविक व्यावसायिक सहयोगी’ के रूप में दक्षिण कोरिया की तारीफ करते हुए कहा कि इन दोनों देशों के बीच मधुरद्विपक्षीय संबंध रहे हैं तथाभारत मेंऑटोमोबाइल, इलेक्ट्रानिक्स, भारी मशीन आदि क्षेत्रों मेंदक्षिण कोरियाई व्यवसाय तेजी से फलफूल रहा है।

इफको में आए प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व एनएसीएफ के अध्यक्ष श्री किम ब्युंग–वान, नाङवू सीड के प्रबंध निदेशक श्री हंग मुन–हुन और एनएच कैपिटल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री गो ताइ–सूनताइ ने किया। यह प्रतिनिधि मंडल उस बृहत् प्रतिनिधि मंडल का हिस्सा है जो दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति श्री मून जे के प्रथम भारतीय दौरे पर साथ आया है।

एलएस एमट्रोन पिछले कई वर्षों से विभिन्न प्रकार की कृषि मशीनरी के उत्पादन और बिक्री से जुड़ी रही है।

एनएच कैपिटल अपने अन्य कारोबार के साथ-साथ किस्त पर वित्त पोषण, कारपोरेट वित्त तथा अन्य वित्तीय उत्पादों और सेवा के क्षेत्र में कार्यरत रही है।

Comment ( 1 )

  1. J.P.singh

    Good job for indian farmers

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Facebook

Twitter