खाद्य सुरक्षा में सहकारिता की अहम भूमिका: सीई, एनसीयूआई

एसोसिएशन ऑफ फूड साइंटेस्ट्स एंड टेकनोलॉजिस्ट और एनसीयूआई द्वारा आयोजित विश्व खाद्य दिवस समारोह के अवसर पर एनसीयूआई के मुख्य कार्यकारी सत्यनारायण ने बोलते हुए कहा कि सहकारी आंदोलन खाद्य सुरक्षा में कृषि ऋण, उर्वरक जैसे उपकरणों के जरिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

इस कार्यक्रम में देश के सभी हिस्सों से आए एएफएसटीआई के सदस्यों, छात्रों समेत अन्य लोगों ने भाग लिया । सत्यनारायण ने देश के सहकारी समितियों के माध्यम से कृषि उत्पादन को बढ़ावा देने में किसानों की महत्वपूर्ण भूमिका पर भी प्रकाश डाला।

सत्यनारायण ने इफको और कृभको को सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों को उर्वरक और अन्य चीजें उपलब्ध कराने के काम कि प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि सहकारी समितियों के माध्यम से 36 प्रतिशत उर्वरकों का वितरण किया जाता है।

यह बहुत खुशी की बात है कि ये समितियां जैविक उत्पादन में प्रवेश करने की योजना बना रही है, सत्यनारायण ने बताया।

सत्यनारायण ने देश में सहकारी समितियों के माध्यम से कृषि उत्पादन को बढ़ावा देने में किसानों की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित किया।

एनसीयूआई के सीई ने हरित क्रांति और श्वेत क्रांति में सहकारी समितियों के महत्वपूर्ण योगदान का भी उल्लेख किया ।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

Twitter