अवामी सहकारी बैंक विवाद: सुनील ने अपने गुरु का किया बचाव

बिस्कोमॉन के अध्यक्ष और लालू यादव के करीबी सुनील सिंह ने अपने गुरु का बचाव करते हुए कहा कि अवामी सहकारी बैंक के अध्यक्ष अनवर अहमद का लालू प्रसाद या फिर राजद के साथ कोई संबंध नहीं है।

पाठकों को याद होगा कि आयकर विभाग ने बिहार स्थित अवामी सहकारी बैंक में विमुद्रीकरण के मद्देनजर काले धन को वैध बनाने पर छापा मारा था। गौरतलब है कि इस खबर ने मीडिया की सुर्खियां बटोरी थी क्योंकि बैंक के अध्यक्ष अतीत में राजद विधान परिषद के सदस्य थे।

“वे अतीत में राजद के एमएलसी थे और पिछले 15 वर्षों से वह पार्टी में नहीं है। अनवर ने लालू के खिलाफ अतीत में कठोर टिप्पणी की थी जिसकी वजह से अब लालू-राबड़ी निवास पर उनके प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, सुनील ने कहा।

लालू और राबड़ी का बैंक में खाता होने पर सुनील ने कहा कि “यह अनवर का नाटक था जो ग्राहकों को लुभाने के लिए रचा गया था” सुनील ने कहा। लालूजी की बैंक में कोई भूमिका नहीं है क्योंकि इसके ज्यादातर सदस्य मुस्लिम है और वे ही इसके मतदाता है, सिंह ने कहा।

इस मुद्दे पर भाजपा नेता सुशील मोदी ने कहा कि “आईटी ने अवामी सहकारी बैंक के अध्यक्ष के परिसर में छापा मारा जो राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के करीबी सहयोगी है।

अवामी बैंक में 100 से अधिक खातें है जिसमें राजद नेताओं ने करोड़ों रुपये के काले धन को सफेद किया है, भाजपा नेता सुशील मोदी ने आरोप लगाया है। उन्होंने आरोप लगाया कि लालू प्रसाद और उनकी पत्नी राबड़ी देवी का भी बैंक में खाता है।

9 अप्रैल 2014 के विवरण के अनुसार, लालू प्रसाद ने 5.88 लाख की राशि बैंक में जमा की थी जबकि राबड़ी देवी ने 15.62 लाख जमा किया था। लालू का परिवार ऋण ले रहा है और बैंक से लेन-देन भी कर रहा है, भाजपा नेता ने दावा किया।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

Twitter